S M L

भारत में राजदूत की नियुक्ति पर ध्यान दें ट्रंप: अमेरिकी सांसद

ट्रंप के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद से ही भारत में अमेरिकी राजदूत का पद रिक्त है.

FP Staff Updated On: Aug 23, 2017 06:46 PM IST

0
भारत में राजदूत की नियुक्ति पर ध्यान दें ट्रंप: अमेरिकी सांसद

अमेरिका के एक प्रभावशाली सांसद फ्रैंक पालोन ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से अनुरोध किया है कि वह भारत में अमेरिकी राजदूत की नियुक्ति को उच्च प्राथमिकता दें. उन्होंने तर्क दिया कि नई दिल्ली के साथ वाशिंगटन के संबंध बेहद महत्वपूर्ण हैं, इसलिए ऐसा करना आवश्यक है. बीस जनवरी को ट्रंप के अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद से ही भारत में अमेरिकी राजदूत का पद खाली है.

हालांकि वाइट हाउस ने जून में कहा था कि ट्रंप के आर्थिक सहयोगी और भारत पर विशेषज्ञ केनिथ आई जस्टर (62) भारत में अमेरिका के नए राजदूत होंगे.

सांसद फ्रैंक पालोन ने ट्रंप को एक पत्र में कहा, 'कांग्रेसनल कॉकस ऑन इंडिया, इंडियन इश्यूज का सह-संस्थापक और पूर्व अध्यक्ष होने और संसद में सबसे बड़े भारतीय-अमेरिकी संसदीय क्षेत्रों में से एक का प्रतिनिधित्व करने के नाते दोनों महान देशों के बीच संबंध मेरे और मेरे संसदीय क्षेत्र दोनों के लिए बहुत अहम हैं. मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि भारत में अमेरिकी राजदूत की नियुक्ति को अपने प्रशासन की पहली प्राथमिकता बनाएं.' ट्रंप को 22 अगस्त को लिखी गई यह चिट्ठी पालोन ने टि्वटर पर पोस्ट की है.

अफगानिस्तान में भारत की भूमिका में विस्तार करने संबंधी ट्रंप के भाषण के एक दिन बाद सांसद ने लिखा है, 'सात महीने के कार्यकाल के बाद भी महत्वपूर्ण नियुक्ति रुकी हुई है और यह सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए.' उन्होंने लिखा है कि दक्षिण एशिया में भारत हमारा 'मजूबत सहयोगी है जैसा कि आपने सोमवार को देश के नाम अपने संबोधन में भी कहा है.'

पालोन ने लिखा है, 'इन्हीं कारणों से अमेरिका संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता का लंबे समय से समर्थन करता आ रहा है. यह देश के हित में है कि हम किसी अनुभवी अमेरिकी को भारत में अपने देश के सर्वोच्च राजनयिक के रूप में भेजें.' वाइट हाउस ने भारत में राजदूत की नियुक्ति पर हो रही देरी के सवालों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

हालांकि, भारत का नाम लिए बगैर विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने ऐसी खबरों को खारिज किया कि महत्वपूर्ण पद खाली होने के कारण विदेश मंत्रालय के कामकाज पर असर पड़ रहा है.

(साभार न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi