S M L

इस्लाम त्यागकर भागी सऊदी महिला ने कहा- अगर मुझे वापस भेजा गया तो मेरी हत्या कर दी जाएगी

उन्होंने एएफपी से कहा कि जब वह (बैंकॉक के) स्वर्ण भूमि एयरपोर्ट पर पहुंची तब उसे सऊदी और कुवैती अधिकारियों ने रोक लिया और उन्होंने उसके यात्रा से जुड़े कागजात भी छीन लिए.

Updated On: Jan 07, 2019 12:18 PM IST

FP Staff

0
इस्लाम त्यागकर भागी सऊदी महिला ने कहा- अगर मुझे वापस भेजा गया तो मेरी हत्या कर दी जाएगी

हाल ही में एक मामला सामने आया है जिसमें 18 साल की एक सऊदी महिला को थाइलैंड के बैंकॉक एयरपोर्ट पर ही रोक दिया गया. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक ये महिला इस्लाम त्यागकर और सऊदी से भागकर ऑस्ट्रेलिया जा रही थीं. इसके लिए उन्हें बैंकॉक एयरपोर्ट से फ्लाइट बदलनी थी, लेकिन फ्लाइट बदलने से पहले ही बैंकॉक एयरपोर्ट पर ही उन्हें रोक दिया गया.  महिला का कहना है कि,अगर थाई अधिकारी उसे वापस सऊदी भेज देते हैं तो उसकी हत्या कर दी जाएगी. महिला का नाम रहाफ मोहम्मद एम अल्कुनून हैं.

उन्होंने एएफपी से कहा कि जब वह (बैंकॉक के) स्वर्ण भूमि एयरपोर्ट पर पहुंची तब उसे सऊदी और कुवैती अधिकारियों ने रोक लिया और उन्होंने उसके यात्रा से जुड़े कागजात भी छीन लिए.

रहाफ के दावे का ह्यूमन राइट्स वाच ने समर्थन किया है. रहाफ ने कहा, ‘उन्होंने मेरा पासपोर्ट ले लिया.’ उन्होंने कहा कि उनके अभिभावक ने बिना उनकी अनुमति के यात्रा करने की रिपोर्ट की थी. उन्होंने कहा कि वह अपने परिवार से भाग रही थी क्योंकि उन्हें शारीरिक और मानसिक यातनाएं दी जा रही थी.

रहाफ ने कहा, ‘मेरा परिवार सख्त है और उसने मेरे बाल काटने पर छह महीने के लिए एक कमरे में बंद कर दिया था.’ उन्होंने कहा कि अगर मुझे वापस भेजा गया तो पक्का ही मुझे कैद कर लिया जाएगा. उसने कहा, ‘ये साफ है कि सऊदी जेल से निकलते ही वे मुझे मार डालेंगे.’

रहाफ ने कहा कि वह डरी हुई है और उसकी उम्मीद खत्म हो गई है.  वहीं थाईलैंड के मुख्य आव्रजन अधिकारी सुरचाटे हाकपार्न ने कहा कि रहाफ जब रविवार को कुवैती से थाइलैंड पहुंची तो उन्हें रोक लिया गया. उन्होंने कहा, ‘महिला के पास वापसी की टिकट और पैसे भी नहीं थे.’ वह एयरपोर्ट पर एक होटल में है.

उन्होंने कहा, ‘वह शादी से बचने के लिए अपने परिवार से दूर भाग आई. उसे सऊदी अरब लौटने पर मुश्किलों में फंस जाने का डर है. हमने उसकी देखभाल के लिए अधिकारी भेजे हैं.’

उन्होंने कहा कि थाई प्रशासन ने मदद के लिए सऊदी अरब दूतावास से संपर्क किया है. लेकिन रहाफ ने इस बात से इनकार करते हुए कहा कि वह आस्ट्रेलिया में शरण लेने के लिए जा रही थी लेकि स्वर्ण भूमि एयरपोर्ट पर उतरते ही उसे सऊदी और कुवैती दूतावासों के प्रतिनिधियों ने रोक लिया.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi