S M L

बालाकोट के लोगों का सवाल- IAF ने जिन आतंकियों को मारा उनके शव कहां हैं: रॉयटर्स रिपोर्ट

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय लोगों का कहना है कि एयर स्ट्राइक में बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने का दावा सही नहीं है.

Updated On: Mar 01, 2019 08:38 PM IST

FP Staff

0
बालाकोट के लोगों का सवाल- IAF ने जिन आतंकियों को मारा उनके शव कहां हैं: रॉयटर्स रिपोर्ट

पुलवामा हमले के प्रतिरोध में की गई भारतीय एयर स्ट्राइक को लेकर बालाकोट के ग्रामीण सवाल उठा रहे हैं. समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय लोगों का कहना है कि एयर स्ट्राइक में बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने का दावा सही नहीं है. रिपोर्ट बालाकोट के कुछ निवासियों से बातचीत पर आधारित है. बालाकोट टाउन के ही एक गांव जाबा के रहने वाले 62 वर्षीय नूरन शाह ने पूछा- वो (भारतीय) कहते हैं कि वो आतंकियों को मारना चाहते थे. आप देखिए यहां आतंकियों की कोई लाशें दिख रही हैं. क्या आपको यहां कोई आतंकवादी दिखाई दे रहा है? हम लोग यहां रहते हैं, क्या हम आतंकवादी हैं?

भारत ने मंगलवार को दावा किया था उसने जैश-ए-मोहम्मद के बड़े ट्रेनिंग कैंप पर एयर स्ट्राइक कर तबाह कर दिया है. जैश-ए-मोहम्मद ही वो संगठन है जिसने बीती 14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में सीआपीएफ काफिले पर हुए भीषण आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी. भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा था- कि बड़ी संख्या में जैश के आतंकियों, ट्रेनर्स और सीनियर कमांडरों को मार गिराया गया है. एक अन्य वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने मीडिया को बताया था कि करीब 300 आतंकी मारे गए हैं. हलांकि गुरुवार को एक वरिष्ट सैन्य अधिकारी ने इन दावों को गलत भी बताया था. जब एयर मार्शल आरजीके कपूर से पूछा गया कि एयर स्ट्राइक के दौरान कितने आतंकी मारे गए तो उनका जवाब था कि मौतों के बारे डिटेल्स देना परिपक्व निर्णय नहीं था. लेकिन उन्होंने यह भी स्पष्ट किया था कि भारतीय सेनाओं के पास इस एयर स्ट्राइक के पूरे सबूत मौजूद हैं.

पाकिस्तान ने भारत के इस दावे का खंडन किया था और कहा कि भारत का ये ऑपरेशन असफल था. पाकिस्तान के हिसाब से भारत ने बम उन जगहों पर गिराए गए जो एक खाली पहाड़ी इलाका था.

वहीं रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक जब इलाके के ग्रामीण अब्दुर रशीद से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बम के झटके काफी मजबूत थे. लेकिन उनके मुताबिक इस एयर स्ट्राइक में कोई इनसानी मौत नहीं हुई. जाबा के पास एक अस्पताल में उस रात मौजूद रहे सरकारी कर्मचारी मोहम्मद सादिक का कहना है कि भारत के दावे में कोई दम नहीं है. हमारे अस्पताल में कोई भी घायल व्यक्ति नहीं पहुंचा. रशीद के अलावा भी रॉयटर्स ने कुछ अन्य लोगों से बात की है जिसमें स्थानीय लोग आतंकी कैंप में एयर स्ट्राइक की बात को झुठला रहे हैं.

( फ़र्स्टपोस्ट पर प्रकाशित खबर से इनपुट के साथ.)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA
Firstpost Hindi