S M L

किम जोंग को अपना नंबर देकर बोले ट्रंप- जब चाहे कर सकते हैं बात

व्हाइट हाउस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा, 'अब मैं उन्हें फोन कर सकता हूं. यह कह सकता हूं कि हां, हमारे बीच कुछ समस्या है'

Updated On: Jun 16, 2018 01:02 PM IST

FP Staff

0
किम जोंग को अपना नंबर देकर बोले ट्रंप- जब चाहे कर सकते हैं बात

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को बताया कि उन्होंने नॉर्थ कोरिया के लीडर किम-जोंग उन को उनसे सीधे बातचीत करने के लिए अपना नंबर दिया है, जिस पर किम कभी भी उन्हें फोन कर सकते हैं. ट्रंप ने यह भी बताया कि वो रविवार को किम-जोंग उन से फोन पर बातचीत कर सकते हैं.

फॉक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में ‘फादर्स-डे’ का प्लान पूछे जाने पर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वो नॉर्थ कोरिया को फोन करेंगे.

ट्रंप ने बताया कि बीते मंगलवार को सिंगापुर में उनकी किम जोंग उन से साथ हुई बैठक सफल रही, जिसमें वो परमाणु हमले के खतरे को हटाने में सफल रहे. उन्होंने बताया कि उन्होंने किम को अपना नंबर दिया है जिससे कि वो कभी भी सीधे उनसे बात कर सकें.

व्हाइट हाउस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ट्रंप ने कहा, 'अब मैं उन्हें फोन कर सकता हूं. यह कह सकता हूं कि हां, हमारे बीच कुछ समस्या है. मैंने सीधा फोन करने के लिए उन्हें नंबर दिया है. किसी भी तरह की समस्या में वो मुझे फोन कर सकते हैं. मैं उन्हें फोन कर सकता हूं.'

Donald Trump

रविवार को नॉर्थ कोरियाई लोगों से बात करने वाले हैं राष्ट्रपति ट्रंप

यह पूछे जाने पर कि वो रविवार को किससे बात करेंगे ट्रंप ने कहा, 'मैं नॉर्थ कोरिया में लोगों से बात करने जा रहा हूं, और मैं नॉर्थ कोरिया में रहने वाले अमेरिकियों से बातचीत करूंगा.' हालांकि उन्होंने इस बारे में विस्तार से कुछ भी नहीं बताया.

सिंगापुर में अपनी द्विपक्षीय बैठक के बाद ट्रंप और किम ने एक संयुक्त बयान जारी किया था, जिसमें नॉर्थ कोरिया ने कोरियाई प्रायद्वीय को ‘परमाणु मुक्त बनाने की दिशा’ में कार्य करने की प्रतिबद्धता जताई थी, जबकि अमेरिका ने सुरक्षा देने की गारंटी दी थी.

अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी के आलोचकों ने ट्रंप और किम के बीच हुए समझौते कि आलोचना करते हुए कहा कि समझौते में विवरण काफी कम थे, अमेरिका के राष्ट्रपति ने किम जोंग को कई रियायतें दे दी हैं, जबकि उन्होंने संयुक्त राष्ट्र (यूएन) द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों की आलोचना करने के साथ मानवाधिकारों का व्यापक रूप से हनन किया है.

ट्रंप ने कहा है कि वो किम पर भरोसा करते हैं क्योंकि दोनों देशों ने नॉर्थ कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को बंद करने के बारे में बातचीत की है.

किम-जोंग उन के साथ गर्मजोशी से मिलने को लेकर भी आलोचकों ने ट्रंप की आलोचना की है. एक रिपोर्टर द्वारा यह कहने पर कि अमेरिकी राष्ट्रपति किम जोंग उन के मानवाधिकार हनन के रिकॉर्ड पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं, इस पर ट्रंप ने कहा, 'आप जानते हैं क्यों, मैं नहीं चाहता की परमाणु हथियार आपको और आपके परिवार को नष्ट कर दे. मैं नॉर्थ कोरिया के साथ अच्छे रिश्ते चाहता हूं.'

वहीं अमेरिकी रक्षा सचिव मैटिस ने कहा कि पहली बार किसी अमेरिकी राष्ट्रपति (डोनाल्ड ट्रंप) और नॉर्थ कोरिया के नेता (किम जोंग) की मुलाकात बताती है कि अतीत भविष्य को परिभाषित नहीं कर सकता, हालांकि उन्होंने कहा कि अमेरिकी सेना सतर्क बनी रहे.

(साभार: न्यूज18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi