S M L

5 साल में दूसरी बार शटडाउन हो सकता है US, 'दिवालिया' होने का संकट गहराया

आपको बता दें कि अमेरिकी इतिहास में यह पहला मौका नहीं है, जब सरकार को शटडाउन से जूझना पड़ा हो

FP Staff Updated On: Jan 20, 2018 12:54 PM IST

0
5 साल में दूसरी बार शटडाउन हो सकता है US, 'दिवालिया' होने का संकट गहराया

अमेरिका में एक बार फिर बड़ा आर्थिक संकट उठ खड़ा हुआ है. यहां डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने की पहली सालगिरह पर बंदी (शटडाउन) की नौबत आ गई है. दरअसल सरकारी खर्चों को लेकर एक अहम आर्थिक विधेयक पर संसद की मंजूरी नहीं मिल सकी, जिस कारण वहां सरकार को 'शटडाउन' करना पड़ा. इसका मतलब यह हुआ कि अब वहां कई सरकारी विभाग बंद करने पड़ सकते हैं और लाखों कर्मचारियों को बिना सैलरी के घर बैठना पड़ सकता है.

दरअसल अमेरिका में एंटी डेफिशिएंसी एक्ट लागू है, जिसमें फंड की कमी होने पर संघीय एजेंसियों को अपना कामकाज रोकना पड़ता है. वहीं सरकार फंड की कमी पूरी करने के लिए एक स्टॉप गैप डील लाती, जिसे अमेरिका की प्रतिनिधि सभा और सीनेट, दोनों में पारित कराना जरूरी होता है. यह बिल प्रतिनिधि सभा से तो पारित हो गया था, लेकिन सीनेट में यह अटक गया.

वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था शायद अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है और देश बेहतरीन काम कर रहा है. ट्रंप राष्ट्रपति पद संभालने के एक वर्ष पूरा होने की पूर्व संध्या पर बोल रहे थे. ट्रंप ने व्हाइट हाउस के रोज गार्डन से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए नेशनल मॉल में ‘मार्च फॉर लाइफ’ के प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा, राष्ट्रपति के रूप में शपथ लिए हुए कल मुझे ठीक एक साल हो जाएगा। और मैं कहूंगा कि हमारा देश काफी अच्छा कर रहा है। हमारी अर्थव्यवस्था शायद अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है.

पिछले साल 20 जनवरी को 71 वर्षीय ट्रंप ने अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी. ट्रंप ने कहा कि उनकी नीतियां अमेरिका की बेहतरी के लिए काम कर रही है. उन्होंने कहा, आप नौकरी की संख्याओं को देखें या हमारे देश में वापस आने वाली कंपनियों को देखें, आप स्टॉक मार्केट को देखें जो सवार्धिक ऊंचाई पर है, बेरोजगारी पिछले 17 सालों में सबसे नीचले स्तर पर है.

आपको बता दें कि अमेरिकी इतिहास में यह पहला मौका नहीं है, जब सरकार को शटडाउन से जूझना पड़ा हो. इससे पहले अक्टबूर 2013 में बराक ओबामा के राष्ट्रपति रहने के दौरान भी दो हफ्तों तक संघीय एजेंसियों को बंद करना पड़ा, जिस कारण 8 लाख कर्मचारियों को बगैर वेतन के घर बैठना पड़ा था. वहीं 1981, 1984, 1990 और 1995-96 में भी अमेरिका में शटडाउन की नौबत आ चुकी है.

(एजेंसियों से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi