Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

चीन की 'वन बेल्ट वन रोड' परियोजना से अमेरिका परेशान

अमेरिका ने कहा, जब पूरे क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के लिए निवेश की बेहद जरूरत है तो ‘वन बेल्ट वन रोड’ पर बहस करने की जगह और बहुत कुछ किया जा सकता है

Bhasha Updated On: Nov 21, 2017 04:44 PM IST

0
चीन की 'वन बेल्ट वन रोड' परियोजना से अमेरिका परेशान

अमेरिका के सांसदों ने चीन की महत्वाकांक्षी ‘वन बेल्ट वन रोड’ (ओबीओआर) परियोजना को लेकर चिंता जाहिर की है. सांसदों ने विकास संबंधी वित्त प्रयासों में सुधार के लिए सुझाव मांगे हैं.

एशिया और प्रशांत क्षेत्र पर विदेशी मामलों की उपसमिति के अध्यक्ष सांसद टेड योहो ने कहा, 'जब, पूरे क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के लिए निवेश की बेहद जरूरत है ऐसे में ‘वन बेल्ट वन रोड’ पर बहस करने की जगह, और बहुत कुछ किया जा सकता है.'

एशिया में वित्त विकास के मुद्दे पर कांग्रेस की सुनवाई के दौरान उन्होंने कहा कि बहरहाल, चीन ने ओबीओआर का प्रचार इस तरह किया है कि परियोजना उसके और साथी विकासशील देशों के लिए काफी हितकारी है. लेकिन ऐसा लगता है कि यह मुख्य रूप से उसके निजी फायदे के लिए ही है.

उन्होंने कहा कि ओबीओआर की फंडिंग चीनी संस्थाओं ने उच्च दरों पर किया है. आम तौर पर चीनी निगमों द्वारा आयोजित विकास संदर्भ में ऐसा नहीं पाया जाता, जो अक्सर राज्य के स्वामित्व वाले उद्यम होते हैं और चीनी श्रम और संसाधनों का उपयोग करते हैं. इनसे स्थानीय अर्थव्यवस्थाओं को ज्यादा फायदा नहीं मिलता और उन पर कर्ज का बोझ भी आ सकता है.

टेड योहो ने कहा कि यह कार्यक्रम चीन के सामरिक और सैन्य हितों के साथ करीब से जुड़ा हुआ है, जो केवल एक संयोग मात्र नहीं है. उन्होंने अपने दावों की पुष्टि के लिए कई उदाहरण पेश किए.

श्रायर के अध्यक्ष और सेंटर फॉर स्ट्रेटेजिक एंड इंटरनेशनल स्टडी में समृद्धि और विकास परियोजना के निदेशक डेनियल रूंडे ने कहा कि चीन अपने विकास कार्यक्रमों के दौरान समय-समय पर मानवाधिकारों, पर्यावरण और सामाजिक मानकों की अनदेखा करता रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi