S M L

अमेरिका में भी पढ़ाए जाएंगे क्रांतिकारी गदर पार्टी के किस्से

क्रांतिकारी समूह गदर पार्टी की स्थापना के 105 साल पूरे होने के मौके पर ऑरेगन के शीर्ष अधिकारियों ने यह घोषणा की

Updated On: Jul 16, 2018 10:36 PM IST

Bhasha

0
अमेरिका में भी पढ़ाए जाएंगे क्रांतिकारी गदर पार्टी के किस्से

अमेरिका के ऑरेगन स्टेट के स्कूलों में जल्द ही भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान देने वाली गदर पार्टी के बारे में पढ़ने को मिलेगा. क्रांतिकारी समूह गदर पार्टी की स्थापना के 105 साल पूरे होने के मौके पर ऑरेगन के शीर्ष अधिकारियों ने यह घोषणा की.

ऐतिहासिक शहर एस्टोरिया में कुछ भारतीय-अमेरिकी मूल के परिवार हैं. आधिकारिक रिकॉर्ड्स के मुताबिक 1910 में 74 भारतीय पुरुष यहां आए थे. इनमें से ज्यादातर पंजाब के सिख थे, जो वहां मजदूरी करते थे. इन्हीं लोगों को जोड़कर इस इलाके में गदर पार्टी की स्थापना की गई थी.

टिंबर फैक्ट्री में काम करने वाले इन भारतीयों के वंशज रविवार को गदर पार्टी के पहले स्थापना सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए इकट्ठे हुए थे. इस सम्मेलन में ऑरेगन के एटॉर्नी जनरल एलेन एफ रोजनब्लम ने गवर्नर केट ब्राउन की मौजूदगी में यह अहम घोषणा की. उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है कि एस्टोरिया इस खास घटना का एक प्रतीक है. इस के साथ उन्होने घोषणा की कि ऐतिहासिक घटना राज्य के स्कूलों के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनेगी.

किसने की थी गदर पार्टी की स्थापना

दरअसल अमेरिका में लाला हरदयाल ने सभी भारतीयों को इकट्ठा किया था. जिसके बाद 1 नवंबर 1913 में सैनफ्रांसिस्को में गदर पार्टी की स्थापना की गई. इसका मकसद भारत से साम्राज्यवादी अंग्रेज सत्ता को उखाड़ने के लिए देश से बाहर भारतीयों को प्रोत्साहित किया जाए. इसी गदर पार्टी से भगत सिंह और ऊधम सिंह जैसे युवा क्रांतिकारियों ने प्रेरणा ली थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi