S M L

केरल की विनाशकारी बाढ़ क्लाइमेट चेंज की चेतावनी है: UN महासचिव

गुतारेस ने चेताया कि दुनिया में जलवायु परिवर्तन पर ऐसी स्थिति बनने का संकट है जहां से वापसी नहीं हो सकती है

Updated On: Sep 11, 2018 02:04 PM IST

Bhasha

0
केरल की विनाशकारी बाढ़ क्लाइमेट चेंज की चेतावनी है: UN महासचिव

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने केरल में हाल में आई विनाशकारी बाढ़ और पोर्टो रीको में पिछले साल आए तूफान का हवाला देकर जलवायु परिवर्तन पर निष्क्रियता के परिणामों को लेकर चेतावनी दी है और जलवायु परिवर्तन की दिशा बदलने के लिए अधिक नेतृत्व और अधिक इच्छा शक्ति का आह्वान किया है.

गुतारेस ने सोमवार को यूनाइटेड नेशन्स के जलवायु परिवर्तन रोकने पर अहम भाषण में कहा कि जलवायु परिवर्तन हमारे समय का एक अहम मुद्दा है और हम एक महत्तवपूर्ण मोड़ पर हैं. हमारे के लिए अस्तित्व का सीधा संकट है. जलवायु परिवर्तन तेजी से हो रहा है. उन्होंने जलवायु परिवर्तन की दिशा मोड़ने के लिए प्रयास करने की जरूरत बताई.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने जलवायु संकट को रेखांकित करने के लिए केरल में आई बाढ़ समेत दुनियाभर की विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं का हवाला दिया.

उन्होंने कहा कि बेहद गर्मी, जंगलों में आग, तूफान और बाढ़ अपने पीछे मौतों और विनाश की दास्तान छोड़ जाते हैं. पिछले महीने भारत के केरल राज्य में हालिया इतिहास की सबसे भीषण बाढ़ आई, जिसमें 400 लोगों की मौत हो गई और 10 लाख से ज्यादा लोग बेघर हो गए.

गुतारेस ने पिछले साल पोर्टो रीको में आए तूफान मारिया का भी हवाला दिया जिसमें करीब 3,000 लोगों की मौत हुई. यह अमेरिका के इतिहास में सबसे खराब प्राकृतिक आपदाओं में से एक है. उन्होंने कहा कि संकट की तात्कालिकता पर कोई संदेह नहीं होना चाहिए. हम दुनिया भर में रिकॉर्ड तोड़ तापमान का अनुभव कर रहे हैं.

गुतारेस ने चेताया कि दुनिया में जलवायु परिवर्तन पर ऐसी स्थिति बनने का संकट है जहां से वापसी नहीं हो सकती है. समूचे ग्रह के लोगों और उन्हें संभालने वाले प्राकृतिक तंत्र के लिए विनाशकारी परिणाम हो सकते हैं.

उन्होंने जलवायु परिवर्तन की दिशा को उलटने के लिए अधिक नेतृत्व और अधिक इच्छाशक्ति का आह्वान किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi