S M L

यूएन रिपोर्ट: भारत की आबादी 2024 तक चीन से ज्यादा

रिपोर्ट के मुताबिक भारत की जनसंख्या 2030 तक 1.5 अरब से ज्यादा हो जाएगी

Updated On: Jun 22, 2017 04:03 PM IST

Bhasha

0
यूएन रिपोर्ट: भारत की आबादी 2024 तक चीन से ज्यादा

भारत की आबादी 2024 तक चीन की आबादी को पार कर सकती है. पहले ऐसा 2022 तक ही हो जाने का अनुमान था. संयुक्त राष्ट्र के एक आकलन में यह दावा किया गया है.

2030 तक भारत की आबादी 1.5 अरब होने की संभावना है. संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक एवं सामाजिक मामलों के विभाग ने 2017 के वर्ल्ड पॉपुलेशन प्रॉस्पेक्ट्स रिपोर्ट्स जारी की है. इसने कहा है कि चीन की आबादी फिलहाल 1.41 अरब है और भारत की 1.34 अरब है. इन दोनों देशों की दुनिया भर की आबादी में क्रमशः 19 और 18 फीसदी की हिस्सेदारी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि करीब सात साल में भारत की आबादी चीन की आबादी को पार करने की उम्मीद है.

2050 तक 1.66 अरब हो जाएगी भारत की आबादी

यह संयुक्त राष्ट्र आधिकारिक अनुमान के 25वें दौर की समीक्षा रिपोर्ट है. 24वें दौर का अनुमान 2015 में जारी किया गया था. इसमें अनुमान लगाया गया था कि भारत की आबादी 2022 तक चीन को पार कर जाएगी.

2024 में भारत और चीन, दोनों की आबादी 1.44 अरब के आसपास होगी. इसके बाद भारत की आबादी 2030 में 1.5 अरब और 2050 में 1.66 अरब होने का अनुमान है. चीन की आबादी 2030 तक स्थिर रहने का अनुमान है जिसके बाद इसमें धीमी गिरावट आ सकती है. भारत की आबादी में 2050 के बाद कमी आ सकती है.

नाइजीरिया बनेगा तीसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला देश

सामूहिक रूप से 10 देशों की आबादी 2017 से 2050 के बीच बढ़ कर दुनिया की कुल आबादी के 50 फीसदी से ज्यादा होने की उम्मीद है. इन देशों में भारत, नाइजीरिया, कांगो, पाकिस्तान, इथोपिया, तंजानिया, अमेरिका, यूगांडा, इंडोनेशिया और मिस्र शामिल हैं.

इन 10 देशों में नाइजीरिया की आबादी सबसे तेजी से बढ़ रही है. उसकी आबादी अमेरिका की आबादी को पार कर जाने का अनुमान है और 2050 से कुछ वर्ष पहले यह दुनिया की तीसरा सर्वाधिक आबादी वाला देश बन जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi