S M L

नूई और मस्क: खिलाफ बोलने वालों को ट्रंप ने बनाया सलाहकार

इंदिका नूई के साथ इलोन मस्क और ऊबर के ट्रेविस कैलेनिक सलाहकार समिति में.

Updated On: Dec 15, 2016 08:27 AM IST

Pawas Kumar

0
नूई और मस्क: खिलाफ बोलने वालों को ट्रंप ने बनाया सलाहकार

अमेरिका के प्रेसिडेंट-इलेक्ट डोनाल्ड ट्रंप ने पेप्सीको की चेयरमैन और सीईओ इंदिरा नूई को अपनी आर्थिक सलाहकार समिति में शामिल किया है.

नूई के अलावा स्पेस एक्स और टेस्ला के फाउंडर इलोन मस्क और ऊबर के सीईओ ट्रेविस कैलेनिक को भी इस सलाहकार समिति में शामिल किया है. वैसे ये तीनों सीईओ ट्रंप की जीत के पहले उनके आलोचक रह चुके हैं.

बॉयकॉट के बाद बुलावा

ट्रंप के राष्ट्रपति चुने जाने के बाद नूई ने कहा था कि इस जीत से उनकी बेटियां, समलैंगिक कार्यकर्ता, कर्मचारी और अश्वेत लोग 'गहरी चिंता' में हैं. हालांकि नूई ने ट्रंप को जीत की बधाई दी थी और यह भी कहा था कि अब अमेरिका को उनके नेतृत्व में एकजुट होने की जरूरत है.

हालांकि नूई के बयानों को लेकर काफी हो-हल्ला मचा था. इसे तरह फैलाया गया था कि नूई ट्रंप विरोधी हैं और उनके समर्थकों से नफरत करती हैं. इसके बाद कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर पेप्सी का बॉयकॉट करने की मुहिम भी चलाई थी. ट्रंप के नूई को सलाहकार समिति में शामिल करने से पेप्सी की मुश्किल कम हो सकती है, जो कुछ लोगों के कड़़े विरोध का सामना कर रही थी.

मस्क, कैलेनिक ने भी की थी आलोचना

टेस्ला के फाउंडर इलोन मस्क भी ट्रंप के आलोचकों में रहे हैं. राष्ट्रपति चुनाव के दौरान मस्क ने कहा था कि ट्रंप वाइट हाउस में जाने के काबिल नहीं हैं. कैलेनिक ने कहा था कि अगर ट्रंप जीतते हैं तो वह 'चीन चले जाएंगे.'

Donald_Trump FINAL

ट्रंप को अपने विरोधियों या आलोचना करने वालों के खिलाफ सख्त माना जा रहा है लेकिन ट्रंप की कुछ नियुक्तियों ने इस धारणा को तोड़ा भी है.

विरोधियों को साथ लेंगे ट्रंप?

ट्रंप ने अपने विरोधी माने जाने वाले रिक पेरी को ऊर्जा मंत्री की जिम्मेदारी दी है. उन्होंने आलोक रहीं निकी हेली को भी अपने प्रशासन में बड़ी जवाबदेही सौंपी है. हेली को डोनाल्ड ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका का अगला दूत नियुक्त किया है.

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, ट्रंप ने राष्ट्रपति पद के लिए उनके विरोधी रहे बेन कारसन को भी उनकी सरकार में जगह ऑफर की है.

तो क्या इन नियुक्तियों के जरिए ट्रंप यह भी दिखाना चाह रहे हैं कि वह अपने विरोधियों के साथ भी काम करने को तैयार हैं? क्या ट्रंप इन नियुक्तियों से यह संदेश देना चाहते हैं कि नए राष्ट्रपति सबको साथ लेकर चलने वाले लोगों में है?

नूई, मस्क और कैलेनिक को समिति में शामिल किए जाने की घोषणा के पहले ट्रंप को निजी क्षेत्र के कारोबारियों को प्रशासन में ज्यादा जगह नहीं देने के कारण नाराजगी का भी सामना करना पड़ा था. संभव है कि ये नियुक्तियां महज इस नाराजगी को खत्म करने की कोशिश है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi