S M L

चीन को 'चेतावनी' देने के लिए अमेरिका-फिलीपींस का साझा सैन्य अभ्यास

दक्षिण चीन सागर में चीन के बढ़ते दखल को देखते हुए इन दोनों देशों ने वार्षिक सैन्य अभ्यास शुरू किया है

Updated On: May 07, 2018 05:11 PM IST

Bhasha

0
चीन को 'चेतावनी' देने के लिए अमेरिका-फिलीपींस का साझा सैन्य अभ्यास

अमेरिका और फिलीपीन की सेनाओं ने सोमवार को प्रमुख सैन्य अभ्यास शुरू किया. इस संयुक्त अभ्यास का लक्ष्य वैश्विक आतंकवाद से लड़ना है. हालांकि वो दक्षिण चीन सागर में चीन की ओर से मिसाइलें तैनात करने की रिपोर्टों पर चुप्पी साधे हुए हैं.

फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते के नेतृत्व में यह दूसरा वार्षिक सैन्य अभ्यास है.

अमेरिका के समाचार नेटवर्क सीएनबीसी ने रिपोर्ट दी है कि चीनी सेना ने पिछले महीने द्वीप पर पोत रोधी और हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलें लगाई हैं. फिलीपींस ने भी यह दावा किया है. इस घटनाक्रम के एक हफ्ते से भी कम वक्त में 12 दिन चलने वाला यह अभ्यास शुरू हुआ है.

अमेरिका के लेफ्टिनेंट जनरल लॉरेंस निकोल्सन ने मनीला में संवाददाताओं से कहा कि यह अभ्यास पहले से निर्धारित था और वहां मिसाइलें होने या नहीं होने से इसका कोई लेना-देना नहीं है.

उन्होंने कहा कि क्षेत्र के हालिया घटनाक्रम से अभ्यास का मुश्किल से ही कुछ लेना-देना है.

दक्षिण चीन सागर को लेकर पिछले कई साल से विवाद है. वियतनाम, मलेशिया और अन्य देश सागर पर दावा करते हैं जो अहम जल मार्ग है तथा यह माना जाता है कि इसमें तेल और गैस का जखीरा है.

फिलीपींस में निकोल्सन के समकक्ष लेफ्टिनेंट जनरल एम सलामत ने चीन द्वारा मिसाइल तैनात करने के मुद्दे को तवज्जो नहीं देते हुए आतंकवाद से लड़ने में फिलीपींस के बलों की क्षमताओं में सुधार करने की जरूरत बताई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi