S M L

'द सिम्पसंस' विवाद: इंडियन कैरेक्टर 'अप्पू' क्या सच में रेसिस्ट है?

अमेरिका टीवी के इतिहास में सबसे ज्यादा चलने वाले शो 'द सिम्पसन्स' के एक भारतीय कैरेक्टर अप्पू को लेकर वहां पर विवाद खड़ा हो गया है

FP Staff Updated On: Apr 26, 2018 06:45 PM IST

0
'द सिम्पसंस' विवाद:  इंडियन कैरेक्टर 'अप्पू' क्या सच में रेसिस्ट है?

अमेरिका में टीवी के इतिहास में सबसे लंबे समत तक चलने वाला शो 'द सिम्पसंस' पिछले कुछ सप्ताह में धीरे-धीरे विवादों में आ गया. इस शो के विवाद में आने का कारण बनी एक डॉक्यूमेंट्री. 'द प्रॉबल्म विद अप्पू' नाम की इस डॉक्यूमेंट्री को बनाया है इंडियन-अमेरिकन कॉमेडियन हरि कोंडबोलू ने. कोंडबोलू ने कहा कि इस शो का एक कैरेक्टर अप्पू, जिसे हैंक अजारिया ने आवाज दी है, वह रेसिस्ट है.

डॉक्यूमेंट्री को 'द सिम्पसन्स' शो की तरफ से 8 अप्रैल के एक एपिसोड में जवाब दिया गया. इसमें दिखाया गया कि एक कैरेक्टर एक किताब को पढ़ रही है जो स्टीरियोटाइप्स कैरेक्टर से भरा हुआ है. इसके बाद वह अपने आप रोकते हुए पूछती है कि मुझे क्या करना चाहिए. इसके जवाब के लिए वो कैमरे में देखती है और कहती है कि उस चीज के बारे में कहना मुश्किल है जो दशकों पहले शुरू हुआ, अब उसकी सराहना और अपमान दोनों राजनीतिक रूप से गलत है.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, इसके बाद कैमरा शो के मुख्य कैरेक्टर अप्पू की एक फोटो की तरफ जाता है जिस पर लिखा होता है, मेरे पास गाय नहीं है. इसके बाद सोशल मीडिया पर इसको लेकर इंडियन-अमेरिकन्स का गुस्सा फूट पड़ा. ज्यादातर लोग इसके खिलाफ थे लेकिन कुछ ने इसके सपोर्ट में भी बोला.

'द सिम्पसन्स' शो का कैरेक्टर अप्पू एक इंडियन कैरेटर है. जिस पर आरोप लग रहा है कि वह साउथ एशियन, खास कर भारतीय लोगों को स्टीरियोटाइप दिखाया जा रहा है. इस विवाद के बाद अप्पू को आवाज देने वाले हैंक अजारिया ने अस शो को छोड़ दिया. हालांकि उन्होंने कहा कि मैं ज्यादातर साउथ एशियन और इंडियन राइटर्स को राइटर रूम में देखना चाहता हूं.

कई इंडियन-अमेरिकन्स अप्पू के कैरेटर को अपने से जोड़ कर देख रहे हैं और वो इससे अपमानित होने के बजाय खुद से जोड़ रहे हैं.

ऐसे ही एक इंडियन-अमेरिक हैं अमर शाह, जिनके पिता 17 साल की उम्र में गुजरात से अमेरिका चले गए और वहीं पर पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी करने लगे. अमर के पिता की अरेंज मैरेज हुई. वो शादी के लिए वापस गुजरात आए और फिर अपनी पत्नी के साथ अमेरिका के लिए रवाना हो गए.

अमर को लगता है कि उनके पिता और शो के कैरेक्टर अप्पू में तमाम समानताएं हैं. वो कहते हैं कि मैं अपने पिता में अप्पू के अश्क को देखता हूं. वो इसके लिए कई दलील देते हैं और अपनी बात को तार्कित तौर पर रखते हैं.

द वॉशिंगनट पोस्ट में लिखे एक लंबे लेख में अमर शाह ने अपने पिता और 'द सिम्पसन्स' शो के कैरेक्टर अप्पू के समानताओं के बारे में बताया है. उन्होंने लेख के जरिए अमेरिका में अपने माता-पिता के संघर्षों के साथ सफलता की कहानी को अप्पू से जोड़ा है. अमर शाह का कहना है कि तमाम इंडियन-अमेरिकन्स के लिए अप्पू अपमानजनक हो सकता है लेकिन मेरे लिए वह मेरे डैड की तरह है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi