live
S M L

बगदाद से 100 किमी दूर ब्लास्ट, सौ से ज्यादा की मौत

बगदाद में एक आत्मघाती बम धमाके में सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो गई.

Updated On: Nov 25, 2016 08:44 AM IST

FP Staff

0
बगदाद से 100 किमी दूर ब्लास्ट, सौ से ज्यादा की मौत

एक आत्मघाती ट्रक बम धमाके से इराक दहल गया. गुरुवार को एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से भरे ट्रक को उड़ा दिया. धमाके में सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. ये धमाका इराक की राजधानी बगदाद से सौ किमी दक्षिण में मौजूद हिल्ला शहर में हुआ.

फिदायीन हमलावर ने विस्फोटक से भरे ट्रक में पेट्रोल पंप के पास धमाका किया. धमाके में मारे गए लोगों में ज्यादातर ईरान के शिया जायरीन है. उस वक्त सैकड़ों की तादाद में ईरान के शिया जायरीन पवित्र शहर कर्बला से लौट रहे थे. ये जायरीन कर्बला में इमाम हुसैन की मौत के चालीसवें दिन होनेवाली तीर्थयात्रा से लौट रहे थे.

जिस पेट्रोल पंप पर धमाका हुआ वहां एक रेस्तरां भी है. यह रेस्तरां पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है. पुलिस के मुताबिक एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक लदे ट्रक के साथ खुद को उड़ाकर घटना को अंजाम दिया. उस वक्त रेस्तरां में काफी पर्यटक मौजूद थे. धमाके के बाद  जायरीनों की पांच बसों में आग लग गई.

आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने हमले की जिम्मेदारी ली है. इस्लामिक स्टेट की समाचार एजेंसी का दावा है कि हमले में दो सौ से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. इराकी सरकार को दहलाने के लिये उस वक्त ये हमला किया गया है जब इराकी सेना ने इस्लामिक स्टटे को मोसुल के चारों तरफ से घेर लिया है. इस जंग में शिया लड़ाके भी इराकी सेना की मदद कर रहे हैं. ईरान के विदेश मंत्रालय ने घटना की निंदा करते हुए कहा है कि इराक में आतंकियों के खिलाफ सैन्य अभियान को समर्थन जारी रहेगा.

इराकी सेना ने मोसुल में आईएस को घेरा

मोसुल को इस्लामिक स्टेट के कब्जे से छुड़ाने की घमासान जंग जारी है. अमेरिकी सेना की मदद से इराकी सेना और स्पेशल फोर्सेस मोसुल के भीतर कई इलाकों में पहुंच चुकी है. शिया बहुल द पॉपुलर मोबिलाइजेशन सुरक्षा बल को मोसुल के पश्चिम में बड़ी कामयाबी हासिल हुई है.जबकि मोसुल के पूर्व की तरफ से इराकी सेना लगातार आगे बढ़ रही है. इराकी सुरक्षा बलों के क़रीब 50 हज़ार सैनिक, कुर्द लड़ाके, सुन्नी अरब कबायली लड़ाके और शिया लड़ाके मोसुल को आईएस के चुंगल से छुड़ाने के अभियान में शामिल हैं.

यही वजह है कि सुन्नी बहुल आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने मोसुल का हिसाब बराबर करने के लिये शिया जायरीनों को निशाना बनाया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi