S M L

स्टीव जॉब्स ने अपनी बेटी से कहा था- 'तुमसे टॉयलेट जैसी बदबू आती है'

लीज़ा के मुताबिक, स्टीव जॉब्स मां की मदद नहीं करते थे इसलिए घर के खर्च चलाने के लिए उनकी मां घरों में बर्तन धोने का काम करती थीं

Updated On: Aug 04, 2018 03:00 PM IST

FP Staff

0
स्टीव जॉब्स ने अपनी बेटी से कहा था- 'तुमसे टॉयलेट जैसी बदबू आती है'

आईफोन और आईपैड बनाने वाली कंपनी 'एप्पल' के को-फाउंडर स्टीव जॉब्स को तो सभी जानते हैं. स्टीव जॉब्स की प्रोफेशनल ज़िंदगी और उनकी कामयाबी के बारे में काफी कुछ लिखा गया, लेकिन उनकी निजी ज़िंदगी हमेशा छिपी ही रही है. स्टीव जॉब्स ने कभी शादी नहीं की थी, लेकिन उनकी एक बेटी है. स्टीव जॉब्स की बेटी लीज़ा ब्रेनन जॉब्स ने पिता के साथ अपने रिश्तों को लेकर 'स्मॉल फ्राई' नाम से किताब लिखी है. लीज़ा के मुताबिक, उनके पिता ने उन्हें पहले नहीं अपनाया था. स्टीव जॉब्स ने एक बार लीज़ा से कहा था कि उनमें से टॉयलेट सी बदबू आती है.

हालांकि, वक्त के साथ-साथ स्टीव जॉब्स और लीज़ा के रिश्तों में थोड़ा सुधार जरूर हुआ. बता दें कि सात साल पहले 5 अक्टूबर को पेन्क्रियाटिक (अग्नयाशय) कैंसर की वजह से स्टीव जॉब्स का निधन हो गया था.

'द टेलीग्राफ' की खबर के मुताबिक, लीज़ा ब्रेनन जॉब्स (40) ने 'वैनिटी फेयर' मैग्ज़ीन को दिए गए इंटरव्यू में अपनी किताब के कुछ हिस्सों को लेकर बात की है. स्टीव जॉब्स की बेटी लीज़ा ब्रेनन ने अपने किताब में बताया है कि कैसे उनके पिता ने कई सालों तक उन्हें नहीं अपनाया. आखिरी वक्त में स्टीव ने जब उन्हें स्वीकार किया, तब भी पूरी तरह से बेटी से जुड़ नहीं पाए. बाप-बेटी के बीच हमेशा एक फासला बना रहा.

फार्म हाउस में हुआ जन्म

लीज़ा ने बताया कि उनका जन्म एक फार्म हाउस में हुआ था. उनकी मां क्रिशन बैनन स्टीव और पिता जॉब्स उस वक्त 23 साल के थे. हालांकि, पहले मां ने कभी किसी को स्टीव जॉब्स के बारे में नहीं बताया था. लीज़ा के मुताबिक, स्टीव जॉब्स मां की मदद नहीं करते थे. इसलिए घर के खर्च चलाने के लिए उनकी मां घरों में बर्तन धोने का काम करती थीं. सोशल बेनिफिट्स स्कीम से भी कुछ फायदा मिल जाता था.

डीएनए टेस्ट के बाद माना बेटी

लीज़ा आगे कहती हैं, '1980 में कैलिफोर्निया की कोर्ट ने मेरे पिता को हमें गुजारा भत्ता देने को कहा. तब उन्होंने एफिडेविट में झूठ बोला कि वो मेरे पिता नहीं है. उन्होंने तो यहां तक कह दिया था कि वो कभी पिता बन ही नहीं सकते. हालांकि, डीएनए टेस्ट में स्टीव के लीसा ब्रेनन का पिता होने की पुष्टि हुई. फिर अदालत ने उन्हें 500 डॉलर प्रति महीने के गुजारा भत्ते के अलावा सोशल इंश्योंरेंस का खर्च उठाने के लिए भी कहा.

साभार न्यूज18

साभार न्यूज18

लीज़ा बताती हैं, 'कोर्ट में ये केस 8 दिसंबर 1980 को खत्म हुआ. एक साल बाद मेरे पिता की प्रॉपर्टी 20 करोड़ डॉलर से ज्यादा हो गई.'

दोस्तों को पिता के बारे में बताया था

अपने बचपन के दिनों का ज़िक्र करते हुए लीज़ा कहती हैं, 'स्कूल में मैंने गर्व से सबको बताया कि मेरे पिता स्टीव जॉब्स हैं. मेरे दोस्तों ने पूछा कि वो कौन हैं? तब मैंने कहा था, 'वो बहुत मशहूर हैं. उन्होंने पर्सनल कंप्यूटर बनाया है. मेरे पिता एक आलीशान घर में रहते हैं. बड़ी सी गाड़ी चलाते हैं. जब भी उनकी गाड़ी पर कोई खरोंच आती है तो वो नई गाड़ी खरीद लेते हैं.'

पिता ने डांटकर कहा था- तुम्हे कुछ नहीं मिलेगा

लीज़ा ब्रेनन के मुताबिक, 'मैं कई बार मां को छोड़कर पिता के घर रुकती थी. मेरे पिता ने कभी मुझपर पिता जैसा प्यार नहीं लुटाया. एक दिन मैंने उनसे कहा कि जब उनकी कार बेकार हो जाएगी, तो क्या मैं उसे ले सकती हूं. इस पर स्टीव भड़क गए थे. उन्होंने चिल्लाते हुए कहा, 'बिल्कुल नहीं. तुम्हें कुछ भी नहीं देंगे.' लीज़ा बताती हैं, 'मेरे पिता बहुत तंगदिल किस्म के इंसान थे. पैसों, खाने-पीने और बोलने के मामले में भी.' लीज़ा कहती हैं कि उनके जन्म पर शर्मिंदगी होना ही उनके पिता संग खराब रिश्ते की सबसे बड़ी वजह रही.

(साभार न्यूज18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi