विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

US: शेरिन को गोद लेने वाले ने ही उसके शव को कचरे के साथ फेंका

शेरिन को गोद लेने वाले ने बताया कि शेरीन की मौत जबरन दूध पिलाए जाते वक्त दम घुटने से हुई

Bhasha Updated On: Dec 07, 2017 09:36 AM IST

0
US: शेरिन को गोद लेने वाले ने ही उसके शव को कचरे के साथ फेंका

अमेरिका की डलास पुलिस ने भारतीय बच्ची शेरीन मैथ्यूज़ की रहस्यमयी मौत के मामले में नया खुलासा किया है. पुलिस का दावा है कि शेरीन को गोद लेने वाले उसके भारतीय-अमेरिकी पिता ने अकड़ चुके उसके शव को मोड़ कर कूड़े की एक थैली के साथ अपनी कार के पीछे रख दिया और फिर उसके शव को एक पुलिया के नीचे छुपा दिया था.

तीन साल की शेरीन 22 अक्टूबर को उप-नगरीय डलास स्थित अपने घर से करीब एक किलोमीटर की दूरी पर बनी एक पुलिया में मृत पाई गई थी. कई दिनों तक खोजने के बाद शेरीन का शव बरामद हुआ था.

शेरीन को गोद लेने वाले उसके पिता वेस्ली मैथ्यूज ने पुलिस को शुरू में बताया था कि दूध पीने में आनाकानी करने के कारण उसने सात अक्टूबर की रात करीब तीन बजे शेरीन को घर के बाहर खड़ा होने को कहा, जिसके बाद वह लापता हो गई. मैथ्यूज ने कहा कि जब वह घर के बाहर आए तो देखा कि शेरीन लापता हो चुकी है.

दो हफ्ते से ज्यादा समय तक चले खोज अभियान के बाद शेरीन का शव बरामद किया गया था. शव बरामद होने के बाद मैथ्यूज ने अपनी कहानी बदल ली और पुलिस को बताया कि जब वह उसे जबरन दूध पिला रहे थे तो दम घुट जाने से उसकी मौत हुई.

डलास के अधिकारी पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट सहित अन्य वैज्ञानिक जांच की रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहे हैं.

पहले वेस्ली ने बनाई थी अलग कहानी

मैथ्यूज और उसकी पत्नी सिनी मैथ्यू की तीन साल की बेटी को उनके पास रहने देने के मामले की सुनवाई के दौरान शेरीन की मौत से जुड़ी नई जानकारियां सामने आईं. शेरीन के लापता होने के बाद मैथ्यूज और सिनी की बेटी को अमेरिकी बाल संरक्षण सेवा के अधिकारी अपने साथ लेकर चले गए थे.

रिचर्डसन पुलिस के जासूस जूल्स फार्मर ने गवाही दी कि 37 साल के मैथ्यूज ने उन्हें बताया कि शेरीन की मौत जबरन दूध पिलाए जाते वक्त दम घुटने से हुई. जूल्स ने कहा कि मैथ्यू ने एक बोतल से दूध पीने के लिए शेरीन को मजबूर किया और उसने बताया कि जब शेरीन का दम घुटने लगा उस वक्त वहां खड़ा था.

जासूस ने कहा कि उसने मैथ्यूज से पूछा भी था कि जब वह वहां खड़ा था तो बच्ची का दम कैसे घुट सकता है. इस पर मैथ्यूज ने जूल्स से कहा कि शेरीन ने सांस लेना बंद कर दिया, लेकिन उसने आपातकालीन नंबर 911 डायल नहीं किया और न ही पेशे से नर्स पत्नी सिनी को मदद के लिए बुलाया.

मैथ्यूज ने स्वीकार किया कि वह शेरीन के शव को घर से बाहर लेकर गया और पुलिया के नीचे शव को रख दिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi