S M L

पाक सरकार ने दिया विदेशी एनजीओ को कामकाज समेटने का आदेश

जिनका रजिस्ट्रेशन दुबारा नहीं किया जा रहा, उन्हें 60 दिनों के अंदर अपना काम काज समेटने को कहा गया है

Updated On: Dec 14, 2017 05:20 PM IST

FP Staff

0
पाक सरकार ने दिया विदेशी एनजीओ को कामकाज समेटने का आदेश

पाकिस्तान में काम कर रहे विदेशी एनजीओ के लिए बुरी खबर है. सरकार सैंकड़ो एनजीओ का लाइसेंस रिन्युवल नहीं करने जा रही है. अधिकारियों के मुताबिक एक दर्जन से अधिक एनजीओ को अपना काम समेटने को कहा गया है. इन सब दो साल पहले रजिस्ट्रेशन करवाया था.

दी इकॉनोमिक टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक देश विरोधी काम में लिप्त पाए गए एनजीओ को दुबारा रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन नहीं दिया जाएगा. हाल ही में पाकिस्तान में गैर सरकारी संस्थाओं के रजिस्ट्रेशन के लिए कड़े नियम लाए गए हैं.

इसके मुताबिक कई एनजीओ सरकार की ओर से तय मानकों का पालन करने की वजह से दुबारा रजिस्ट्रेशन कराने में सफल रहे. वहीं ऐसा न कर पाने की वजह के कुछ का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है.

ओसामा को मारने में एनजीओ की थी महत्वपूर्ण भूमिका 

जिनका रजिस्ट्रेशन दुबारा नहीं किया जा रहा, उन्हें 60 दिनों के अंदर अपना काम काज समेटने को कहा गया है. हालांकि ऐसे एनजीओ की तय संख्या के बारे में बताने से मना कर दिया.

कुछ अखबारों में छपी खबर के मुताबिक इसमें अमेरिकी खरबपति जॉर्ज सोरोस की ओपन सोसाइटी फाउंडेशन, एक्शन एड जैसी संस्था भी शामिल हैं. इससे पहले साल 2015 में सेव द चिल्ड्रेन नामक संस्था को पाकिस्तान में काम करने से रोक दिया गया था.

वहीं साल 2011 में ओसामा बिन लादेन को मारने में सीआईए को सबसे बड़ी मदद एनजीओ से ही मिली थी. जहां उसे लादेन का हुलिया और ब्लड सैंपल मिला था. इसके लिए डॉ शकील अफरीदी ने वैक्सिनेशन के नाम पर लादेन के घर इंट्री की थी. तब से पाक सरकार एनजीओ के प्रति अपना रवैया सख्त कर चुकी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi