S M L

सऊदी ने शाही महल पर दागी मिसाइल को किया नष्ट

सऊदी के सूचना मंत्रालय की शाखा सेंटर फॉर इंटरनेशनल कम्युनिकेशन ने ट्वीट किया कि गठबंधन के सैन्यबलों ने ईरानी-हुती मिसाइल को नष्ट किए जाने की पुष्टि की है

Bhasha Updated On: Dec 19, 2017 09:38 PM IST

0
सऊदी ने शाही महल पर दागी मिसाइल को किया नष्ट

यमन के शिया विद्रोहियों से लड़ रहे सऊदी के अगुवाई वाले गठबंधन ने कहा है कि ईरान समर्थित हुती विद्रोहियों द्वारा रियाद में दागी गई एक मिसाइल को उसने नष्ट कर दिया. इससे पहले यमन विद्रोहियों ने घोषणा की थी कि उन्होंने राजधानी में शाह सलमान के महल को निशाना बनाया.

सऊदी अरब और अमेरिका ने ईरान पर उग्रवादियों को हथियारों की आपूर्ति करने का आरोप लगाया है. रियाद ने इस नवीनतम मिसाइल को ‘ईरानी हुती’ करार दिया.

सऊदी बजट जारी होने से महज कुछ समय पहले अंतर्राष्ट्रीय समयानुसार 10 बजकर 50 मिनट पर जबरदस्त विस्फोट की आवाज सुनाई दी. शाह अमूमन अपने यमामाह महल से बजट की घोषणा करते हैं.

इस हमले में किसी के मारे जाने की खबर नहीं है

सऊदी के सूचना मंत्रालय की शाखा सेंटर फॉर इंटरनेशनल कम्युनिकेशन ने ट्वीट किया कि गठबंधन के सैन्यबलों ने ईरानी-हुती मिसाइल को नष्ट किए जाने की पुष्टि की है. ट्वीट में बताया गया कि फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. पिछले दो महीने में रियाद पर यह हुतियों का दूसरा मिसाइल हमला है. हुतियों ने 2014 में यमन की राजधानी पर कब्जा कर लिया था.

हाल के इन हमलों से यह स्पष्ट रूप से परिलक्षित होता है कि यमन संघर्ष तेजी से सीमा के पार पहुंच रहा है. इन हमलों के बाद विद्रोहियों के विरुद्ध सऊदी की अगुवाई में गठबंधन सैन्यबल का अभियान तेज हो सकता है.

4 नवंबर को रियाद हवाई अड्डे को निशाना बनाकर किया गया था हमला

चार नवंबर को रियाद हवाई अड्डे को निशाना बनाकर पहला मिसाइल हमला किया गया था. इसके बाद यमन की सऊदी अरब द्वारा नाकेबंदी और कड़ी कर दी गई. यमन वैसे भी भुखमरी के कगार पर है.

सऊदी अरब ने अपने चिर प्रतिद्वंद्वी ईरान पर विद्रोहियों को मिसाइल देने का आरोप लगाया है. ईरान ने इसका जबरदस्त खंडन किया है. बृहस्पतिवार को संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने इस बात का कथित सबूत पेश किया था कि पिछले महीने दागी गई मिसाइल ईरान में बनी थी और उन्होंने अपने सबूत को अकाट्य करार दिया था.

हालांकि संयुक्त राष्ट्र जांच में किसी ठोस निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पाया कि मिसाइल किसी ईरानी आपूर्तिकर्ता द्वारा ही उपलब्ध कराया गया. जांच दल का कहना था कि बस कुछ डिजायन मिलते-जुलते हैं.

लोगों ने तेज विस्फोट और धुंआ उठने की बात कही

सऊदी अरब की राजधानी के निवासियों ने तेज विस्फोट और धुंआ उठने की बात कही. विदेशी श्रमिक टॉसम कोम्पिकन ने कहा कि जब मुझे तेज आवाज सुनाई दी तब मैं अपने कार्यालय में था. अचानक 30-45 सेंकेंड के बाद मैंने दूसरी आवाज सुनी और हमने सफेद धुंआ देखा.

हुती विद्रोहियों ने पिछले महीने चेतावनी दी थी कि वे सऊदी अरब एवं संयुक्त अरब अमीरात में हवाई अड्डों, बंदरगाहों, सीमा चौकियों और अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों को अपना वैध लक्ष्य मानते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi