S M L

सऊदी की सड़कों पर आज से महिलाओं ने थामी 'स्टियरिंग', जश्न का माहौल

सरकार ने यह वादा किया था कि 24 जून, 2018 से महिलाएं खुद ड्राइव कर सकेंगी. इसलिए आज से सऊदी अरब में महिलाएं गाड़ी चलाती हुई दिखेंगी

FP Staff Updated On: Jun 24, 2018 10:04 AM IST

0
सऊदी की सड़कों पर आज से महिलाओं ने थामी 'स्टियरिंग', जश्न का माहौल

सऊदी अरब की राजधानी रियाद से एक खूबसूरत तस्वीर सामने आ रही है. खूबसूरत इसलिए क्योंकि तस्वीर में महिलाएं ड्राइव करती हुई दिख रही हैं.

अभी तक सऊदी अरब में महिलाओं को ड्राइविंग करने की इजाजत नहीं थी. पिछले साल सितंबर में ही सऊदी सरकार ने इस दकियानूसी कानून से अपने पैर पीछे करते हुए ऐतिहासिक फैसला सुनाया था. अपने फैसले में वर्षों से महिलाओं को ड्राइविंग से वंचित रखने वाली सरकार ने उन्हें ड्राइविंग का हक देने की बात कही थी. सरकार ने यह वादा किया था कि 24 जून, 2018 से महिलाएं देश में ड्राइव कर सकेंगी. चूंकि आज वो दिन आ गया है तो सऊदी की महिलाएं भी पुरुषों की तरह अपनी गाड़ी लेकर सड़कों पर उतर आई हैं.

क्यों सऊदी की महिलाओं को ड्राइविंग करते देख सब हैरान हैं?

बता दें कि सऊदी सरकार ने सरप्राइज के तौर पर बीते 4 जून को ही देश की 10 महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस इशू किया था. तब इन महिलाओं के वीडियोज और फोटोज इंटरनेट पर खूब वायरल हुए थे. लोग सऊदी सरकार की सराहना करते नहीं थक रहे थे.लेकिन ऐसे में जब महिलाएं चांद पर जा रही हैं, ऐवरेस्ट फतह कर रही हैं, सऊदी अरब की महिलाओं को ड्राइविंग की इजाजत भर मिलने से क्यों हंगामा भड़पा है?

क्यों सऊदी की महिलाओं को नहीं थी ड्राइविंग की इजाजत?

सऊदी में सुन्नी मुसलमानों की बहुलता है. और सुन्नी मुसलमान ख़ुद को सबसे धर्मनिष्ठ और पारंपरिक मानते हैं. ऐसे में वहां रहने वाली महिलाओं पर अलग से एक गार्जियनशीप लॉ लागू हुआ करता था. गार्जियनशीप लॉ यानी ऐसा क़ानून जो महिलाओं को बिना पुरुष (पति,भाई,पिता या बेटे) बाहर निकलने की इजाज़त नहीं देता है. यहां तक की नाचने-गाने से लेकर बास्केट बॉल खेलने, स्टेडियम में मैच देखने, ड्राइव आदी करने की भी इजाज़त नहीं थी.

सऊदी की छवि सुधारना चाहते है सलमान

लेकिन जब से सऊदी के प्रिंस ‘मोहम्मद बीन सलमान’ ने वहां की सत्ता संभाली है. उन्होंने महिलाओं के हक़ और आज़ादी को लेकर वहां के नियमों में कई बदलाव किए हैं. इसके कई कारण हैं. सऊदी की जो छवि है, पूरे विश्व में, वो बेदह ही दकियानूसी परंपराओं को फॉलो करने वाले देश के रूप में है. सलमान अपने देश की इसी छवि को सुधारना चाहते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi