S M L

सऊदी अरब का प्रतिनिधि मंडल पाकिस्तान में, उधार पर पेट्रोलियम के करार की उम्मीद

दोनों पक्षों के बीच ग्वादर बंदरगाह पर तेल रिफाइनरी की स्थापना की संभावना पर चर्चा हो सकती है. दोनों पक्षों में उधार पर पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति का करार भी हो सकता है

Updated On: Sep 30, 2018 10:09 PM IST

Bhasha

0
सऊदी अरब का प्रतिनिधि मंडल पाकिस्तान में, उधार पर पेट्रोलियम के करार की उम्मीद

सऊदी अरब का एक उच्च अधिकार प्राप्त प्रतिनिधि मंडल पाकिस्तान पहुंचा और उम्मीद है कि बातचीत में दोनों देश उधार पर पेट्रोलियम के खरीद फरोख्त की सहमति के ज्ञापन सहित पांच समझौतों पर हस्ताक्षर कर सकते हैं.

पाकिस्तान ने कुछ सप्ताह पहले सऊदी अरब को चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा परियोजना में तीसरा ‘रणनीतिक सहयोगी’ बनने का न्योता दिया था. उसके बाद यह प्रतिनिधिमंडल आया है. सऊदी अरब के प्रतिनिधि मंडल में वहां के पेट्रोलियम और ऊर्जा मंत्री भी शामिल हैं.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान करीब 10 दिन पहले ही सऊदी अरब की यात्रा से वापस आए हैं. प्रधानमंत्री पद की जिम्मेदारी संभालने के बाद इमरान की यह पहली विदेश यात्रा थी.

छह दिन की यात्रा के दौरान पांच समझौतों की संभावना:

पाकिस्तान के जियो न्यूज की खबर के मुताबिक प्रतिनिधिमंडल की छह दिवसीय यात्रा के दौरान पांच समझौते किए जा सकते हैं. सूत्रों ने बताया कि सऊदी अरब के वित्त मंत्री मोहम्मद अल-जादान भी कुछ दिन बाद पाकिस्तान आएंगे.

सूत्रों के मुताबिक इस दौरान दोनों पक्षों के बीच ग्वादर बंदरगाह पर तेल रिफाइनरी की स्थापना की संभावना पर चर्चा हो सकती है. सूत्रों ने कहा कि दोनों पक्षों में उधार पर पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति का करार भी हो सकता है. पाकिस्तान बलूचिस्तान क्षेत्र में सोने और तांबे के खनन में निवेश का प्रस्ताव भी रख सकता है. इसके अलावा दोनों देश दो तरल प्राकृतिक गैस आधारित बिजली घरों के निजीकरण एवं पाकिस्तान को फास्फेट वाले उर्वरक की आपूर्ति जैसे मसलों पर समझौते कर सकते हैं. सऊदी दल ग्वादार बंदरगाह का भी दौरा कर सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi