विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

गुआम आइलैंड में क्यों बजा इमरजेंसी अलार्म

अलार्म बजने से खलबली मच गई क्योंकि किम पहले ही हमले की धमकी दे चुके हैं

FP Staff Updated On: Aug 16, 2017 11:04 AM IST

0
गुआम आइलैंड में क्यों बजा इमरजेंसी अलार्म

अमेरिकी क्षेत्र में आने वाले गुआम द्वीप पर उस समय खलबली मच गई, जब स्थानीय रेडियो स्टेशनों ने हमले का आपातकालीन अलार्म बजा दिया. बता दें कि कुछ समय पहले ही उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग, गुआम द्वीप पर हमला करने की धमकी डोनाल्ड ट्रंप को दे चुका है.

मंगलवार स्थानीय समयानुसार, देर रात करीब 12:25 बजे दो रेडियो स्टेशनों ने आपातकालीन अलार्म ऑन एयर बजा दिया. दरअसल, 'एमरजेंसी अलर्ट ब्रॉडकास्ट सिस्टम' नाम का ये अलार्म उस समय बजाया जाता है जब सेना अटैक करने वाली हो या फिर कोई आतंकी हमला हुआ हो. हालांकि दोनों रेडियो स्टेशनों ने बाद में माना कि ये अलार्म गलती से बज गया था. उन्होंने लोगों को ऐसा दोबारा न होने का आश्वासन भी दिया.

गुआम की स्थानीय सुरक्षा एजेंसी ने कहा, 'गुआम वासियों और सैलानियों से आग्रह किया जाता है कि वो शांति बनाए रखें. द्वीप पर खतरे के स्तर में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है, सब काम-काज सामान्य रूप से चल रहा है.'

साथ ही सुरक्षा एजेंसी ने कहा कि अनाधिकृत तौर पर बजा ये टेस्ट अलार्म किसी तरह के खतरे का संकेत नहीं है. इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि एजेंसी रेडियो के साथ इस मामले को लेकर बातचीत कर रही है ताकि दोबारा इस तरह की गलती न हो.

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले नॉर्थ कोरिया ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को दोनों पक्षों के बीच टकराव की स्थिति में गुआम की दिशा में मिसाइलों की फौज भेजने की योजना की चेतावनी दी थी. उत्तर कोरिया की यह घोषणा ट्रंप के ट्विटर पर किए गए उस पोस्ट के बाद सामने आई जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘अमेरिका का परमाणु शस्त्रागार पहले की तुलना में कहीं अधिक मजबूत और अधिक शक्तिशाली’हो गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi