S M L

BIMSTEC SUMMIT 2018: सम्मेलन का हुआ समापन, प्रधानमंत्री लौटेंगे देश

30 और 31 अगस्त को आयोजित इस बैठक में प्रधानमंत्री ने आतंकवाद समेत डिजिटल कनेक्टिविटी, संस्कृति, कला और कई मुद्दों पर बात की

Updated On: Aug 31, 2018 01:49 PM IST

FP Staff

0
BIMSTEC SUMMIT 2018: सम्मेलन का हुआ समापन, प्रधानमंत्री लौटेंगे देश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेपाल के दो दिवसीय दौरे पर हैं. इस दौरान वह नेपाल में चल रही बिम्स्टेक शिखर सम्मेलन की बैठक में शरीक हुए . 30 और 31 अगस्त को आयोजित इस बैठक में प्रधानमंत्री ने आतंकवाद समेत डिजिटल कनेक्टिविटी, संस्कृति, कला और कई मुद्दों पर बात की.

इस दौरान मोदी ने भूटान के चीफ एडवाइजर दाषो शेरींग वांगचुक से भी मुलाकात की.

इसके इतर बीते गुरुवार को पीएम ने प्राकृतिक आपदाओं का जिक्र करते हुए हिमालय और बंगाल की खाड़ी के मुद्दे को उठाया. उन्होंने कहा कि इस तरह की आपदाओं में सभी देशों को एक साथ आना होगा और एक साथ सभी का सहयोग होना आवश्यक है.

संबोधन के दौरान पीएम ने यह भी कहा कि 2020 में भारत इंटरनेशनल बौद्ध सम्मेलन की मेजबानी करेगा. इस सम्मेलन में सभी सदस्य देशों को आने का न्योता भी पीएम ने दिया. उन्होंने कहा कि बंगाल की खाड़ी क्षेत्र में नालंदा विश्वविद्यालय में एक सेंटर फॉर बे ऑफ बंगाल स्टडीज की स्थापना की जाएगी.

क्या है बिम्सटेक सम्मेलन?

BIMSTEC का पूरा नाम 'बे ऑफ बंगाल इनीशिएटिव फॉर मल्टी-सेक्टोरल टेक्निकल एंड इकोनॉमिक को-ऑपरेशन' है.

- BIMSTEC की स्थापना 6 जून 1997 को बैंकॉक घोषणा पत्र के माध्यम से हुई थी.

- BIMSTEC बंगाल की खाड़ी से तटवर्ती या समीपी देशों का एक अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक सहयोग संगठन है. इसे खासतौर पर आर्थिक और तकनीकी सहयोग के लिए ही बनाया गया है.

- बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल, श्रीलंका, म्यांमार और थाईलैंड इसका हिस्सा हैं.

- सात देश के इस समूह में दक्षेस (SAARC) के पांच देश -बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल और श्रीलंका शामिल हैं. इनके अलावा आसियान (ASEAN) के दो देश म्यांमार और थाईलैंड भी इसके सदस्य हैं.

- BIMSTEC लगभग 150 करोड़ लोगों को एक साथ लाने का काम करता है. जो कि पूरी दुनिया की आबादी का करीब 21 प्रतिशत है.

- साथ ही BIMSTEC में शामिल होने वाले देशों की कुल जीडीपी देखी जाए तो ये 2.5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर है.

- BIMSTEC दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्वी देशों को आपस में जोड़ने के लिए एक पुल की तरह काम करता है.

- BIMSTEC कुल 14 क्षेत्रों (व्यापार-निवेश, ऊर्जा, परिवहन-संचार,तकनीक,पर्यटन,कृषि,स्वास्थ्य,मछली पालन,आतंकवाद,जलवायु परिवर्तन,जन संवाद,संस्कृति और गरीबी निवारण) में काम करता है.

- BIMSTEC संगठन का मुख्यालय बांग्लादेश की राजधानी ढाका में है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi