S M L

मॉरिशस पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद, मेडागास्कर भी जाएंगे, कई समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर

राष्ट्रपति कोविंद रविवार को ही 11 से 15 मार्च तक की मेडागास्कर और मॉरिशस यात्रा पर निकले

FP Staff Updated On: Mar 11, 2018 06:26 PM IST

0
मॉरिशस पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद, मेडागास्कर भी जाएंगे, कई समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को मॉरिशस की अपनी समकक्ष अमीना गुरीब से मुलाकात की. दोनों नेताओं की मुलाकात मॉरिशस के स्टेट हाउस ली रीड्यूट में हुई. राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी सरिता कोविंद भी यात्रा पर गई हैं

इससे पहले राष्ट्रपति कोविंद और उनकी पत्नी पोर्ट लुईस पहुंचे जहां एयरपोर्ट पर मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ और उनकी पत्नी कोबिता जुगनाथ ने उनकी अगवानी की.

किसी भारतीय वीवीआईपी की पहली यात्रा

राष्ट्रपति कोविंद रविवार को ही 11 से 15 मार्च तक की मेडागास्कर और मॉरिशस की यात्रा पर निकले. दोनों देश भारत के रणनीतिक हित के लिहाज से अहम हैं. विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (हिंद महासागर क्षेत्र) संजय पांडा ने कहा कि कोविंद मॉरिशस की आजादी का 50वां साल मनाने के लिए आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि होंगे.

संयुक्त सचिव नीना मल्होत्रा ने कहा कि राष्ट्रपति14-15 मार्च को मेडागास्कर यात्रा पर रहेंगे. यह किसी भारतीय वीवीआईपी की ओर से इस देश की पहली यात्रा होगी.

चार समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर

ये यात्राएं इसलिए खास हैं क्योंकि ये अफ्रीकी देश हिंद महासागर में हैं और यह ऐसा क्षेत्र है जहां चीन की नौसेना की मौजूदगी बढ़ रही है. कोविंद ने पिछले साल राष्ट्रपति का पदभार संभालने के बाद इथियोपिया और जिबूती की यात्रा की थी. मॉरिशस में कोविंद अपने समकक्ष अमीनाह गुरिब, प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ और विपक्ष के नेता सहित अन्य नेताओं से बातचीत करेंगे. इस यात्रा के दौरान चार समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे जिसमें उच्च शिक्षा से लेकर आयुर्वेद से जुड़े क्षेत्र शामिल हैं.

कोविंद मॉरिशस में बन रहे विश्व हिंदी सचिवालय का भी उद्घाटन करेंगे. साथ ही एक ईएनटी अस्पताल और सामाजिक आवास परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे.

मेडागास्कर से होगा रक्षा समझौता

मेडागास्कर में कोविंद अपने समकक्ष से मुलाकात करेंगे और व्यापारिक समुदाय से बात करेंगे. वह मेडागास्कर के राष्ट्रपति हेरी राजाओनारीमंपियानीना के साथ वार्ता भी करेंगे.

यह पूछे जाने पर कि क्या मेडागास्कर के साथ रक्षा सहयोग का कोई समझौता भी होगा, मल्होत्रा ने कहा, ‘हमारा हिंद महासागर क्षेत्र में लगभग सभी देशों के साथ पहले से रक्षा सहयोग समझौता है. हमारे दक्षिण अफ्रीका, तंजानिया, केन्या, मोंजाबिक, सेशेल्स के साथ समझौते हैं. हम अन्य देशों के साथ भी समझौते पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद कर रहे हैं. मेडागास्कर एक और देश हो सकता है.’

(इनपुट भाषा से भी)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi