S M L

पाक में नेशनल एवं प्रांतीय असेंबली की 35 सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान शुरू

उपचुनाव वाले इन सीटों में से ज्यादातर वो सीटें हैं जो 25 जुलाई को हुए आम चुनावों में एक से अधिक सीट से जीतने वाले प्रत्याशियों ने खाली कर दी थी

Updated On: Oct 14, 2018 12:22 PM IST

Bhasha

0
पाक में नेशनल एवं प्रांतीय असेंबली की 35 सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान शुरू

पाकिस्तान में नेशनल और प्रांतीय असेंबली की 35 सीटों पर कड़ी सुरक्षा के बीच उपचुनाव शुरू हुए.वहीं रविवार को चुनाव का मतदान भी शुरू हो गया. इन सीटों पर 600 से अधिक प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें से कुछ कद्दावर नेता भी शामिल हैं.

मतदान सुबह आठ बजे से शुरू होकर शाम पांच बजे तक जारी रहेगा. इसके समाप्त होने के तुरंत बाद मतगणना शुरू हो जाएगी. सभी मतदान केंद्रो के परिणाम मौके पर ही घोषित कर दिए जाएंगे. हालांकि, चुनाव अधिकारी एक साथ परिणामों की घोषणा करेंगे.

चुनाव में 50 लाख से अधिक पंजीकृत मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे जिसमें 23 लाख से अधिक महिलाएं और करीब 27 लाख पुरुष शामिल हैं. उपचुनाव में पहली बार विदेश में रहने वाले पाकिस्तानी भी अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने जा रहे हैं.

उपचुनाव वाली ज्यादातर सीटें वो, जो आम चुनाव के बाद खाली छोड़ दिए गए

पंजाब में नेशनल असेंबली की नौ सीटों जबकि सिंध और खैबर पख्तूनख्वा में एक-एक सीट के लिए उप चुनाव हो रहे हैं. वहीं, प्रांतीय असेंबली की 24 सीटों जिसमें से पंजाब में 11, खैबर पख्तूनख्वा में नौ, सिंध एवं बलूचिस्तान में दो-दो सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान शुरू हो रहे हैं.

उपचुनाव वाले इन सीटों में से ज्यादातर वो सीटें हैं जो 25 जुलाई को हुए आम चुनावों में एक से अधिक सीट से जीतने वाले प्रत्याशियों ने खाली कर दी थी. प्रधानमंत्री इमरान खान ने पांच सीटों पर जीत हासिल की थी और बाद में उनमें से चार सीटें खाली कर दी गईं.

7,489 मतदान केंद्रो पर सुरक्षा मुहैया कराने के लिए हजारों जवानों को तैनात किया गया है. शुक्रवार को जवानों की तैनाती शुरू हुई थी और वे 15 अक्टूबर तक चुनाव ड्यूटी पर तैनात रहेंगे.

चुनाव आयोग ने 1,727 मतदान केंद्रो को 'अति संवेदनशील' बताया है. इन जगहों पर अतिरिक्त जवानों और सुरक्षा कैमरों को लगाया गया है. इसमें पंजाब के 848 मतदान केन्द्र, खैबर पख्तूनख्वा (केपी) के 544, सिंध के 201 और बलूचिस्तान के 134 मतदान केन्द्र शामिल हैं.

किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए मतदान केंद्रो के भीतर और बाहर जवानों को तैनात किया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi