S M L

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हुए नुकसान के लिए पोलैंड ने जर्मनी से मांगा मुआवजा

सत्तारूढ़ लॉ एंड जस्टिस पार्टी के नेता जारोस्लाव काकजिन्सकी का तर्क है कि नाजियों ने 1939 में सबसे पहले पोलैंड पर हमला किया था और जिससे इस देश को द्वितीय विश्वयुद्ध में भारी क्षति पहुंची थी

Updated On: Sep 01, 2018 11:27 AM IST

Bhasha

0
द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हुए नुकसान के लिए पोलैंड ने जर्मनी से मांगा मुआवजा

पोलैंड के एक संसदीय आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान नाजियों द्वारा किए गए कब्जे की वजह से देश में 50 लाख लोगों की मौत हुई और करीब 54 अरब डॉलर का नुकसान हुआ.

पोलैंड की मौजूदा सरकार द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान देश को नाजियों द्वारा पहुंचाई गई क्षति की पूर्ति जर्मनी से चाहती है और आयोग की कल की यह घोषणा उसी का हिस्सा है. रिपोर्ट में बताया गया है कि यह प्रारंभिक आंकड़े हैं.

सत्तारूढ़ लॉ एंड जस्टिस पार्टी के नेता जारोस्लाव काकजिन्सकी का तर्क है कि नाजियों ने 1939 में सबसे पहले पोलैंड पर हमला किया था और जिससे इस देश को द्वितीय विश्वयुद्ध में भारी क्षति पहुंची थी.

द्वितीय विश्वयुद्ध खत्म होने के बाद पोलैंड पर दशकों तक सोवियत रूस का प्रभुत्व था इसलिए यह देश स्वतंत्ररूप से जर्मनी से क्षतिपूर्ति राशि नहीं मांग पाया था. हालांकि जर्मनी ने पोलैंड में नाजियों के अत्याचार के बाद जिंदा बचे लोगों को मुआवजा दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi