S M L

PoK के PM बोले- पाक सीमा में था हेलिकॉप्टर, भारत को नहीं करनी चाहिए थी फायरिंग

हैदर ने कहा कि वो पाकिस्तान सरकार को इस मामले से अवगत कराएंगे ताकि वो इस मुद्दे को उठाए और उचित कार्रवाई करे

Updated On: Oct 01, 2018 04:42 PM IST

Bhasha

0
PoK के PM बोले- पाक सीमा में था हेलिकॉप्टर, भारत को नहीं करनी चाहिए थी फायरिंग

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओेके) के ‘प्रधानमंत्री’ राजा फारूक हैदर ने दावा किया है कि वो जिस सफेद हेलिकॉप्टर में सफर कर रहे थे वो नियंत्रण रेखा (एलओसी) के ‘बहुत करीब’ था. लेकिन पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र के भीतर ही था, जिसकी वजह से भारतीय अधिकारियों को इस उड़ान की जानकारी देने की कोई जरूरत नहीं थी और वो कोई सैनिक हेलिकॉप्टर नहीं था.

भारतीय थल सेना ने रविवार को कहा था कि जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास एक पाकिस्तानी हेलिकॉप्टर ने भारतीय हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया, लेकिन अग्रिम मोर्चे पर तैनात पहरेदारों ने जब उसका सामना किया तो वो लौट गया.

भारतीय अधिकारियों ने दावा किया कि गुलपुर सेक्टर में भारतीय हवाई क्षेत्र (एयर स्पेस) में सफेद हेलिकॉप्टर घुस आया था और वापस जाने से पहले उसने कुछ देर तक वहां उड़ान भरी.

सूत्रों ने बताया कि हवाई क्षेत्र का उल्लंघन देखकर 3 अग्रिम चौकियों ने छोटे हथियारों से उस पर गोलीबारी की.

'असैन्य हेलिकॉप्टर में 2 मंत्रियों और निजी स्टाफ के साथ सफर कर रहा था' 

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के नेता हैदर ने कहा कि अब्बासपुर गांव के पास जब ‘हमला’ किया गया, उस वक्त वो सफेद रंग के एक असैन्य हेलिकॉप्टर में अपने 2 मंत्रियों और निजी स्टाफ अधिकारी के साथ सफर कर रहे थे.

पाकिस्तानी अखबार डॉन से बातचीत में हैदर ने कहा कि यह घटना रविवार को लगभग 12 बजकर 10 मिनट पर हुई थी. उन्होंने कहा, ‘मेरे एक मंत्री के भाई के निधन पर शोक जताने और एलओसी से सटे इलाके के निवासियों से मिलने के लिए मैं फॉरवर्ड कठुआ गया था. हम अब्बासपुर की तरफ से लौट रहे थे कि तभी भारतीय थल सेना ने अचानक मेरे हेलिकॉप्टर पर गोलीबारी शुरू कर दी. खुशकिस्मती से हमें कोई नुकसान नहीं हुआ और हेलिकॉप्टर भी क्षतिग्रस्त नहीं हुआ.’

हैदर ने कहा, ‘हम जीरो लाइन के काफी करीब थे, लेकिन हम अपने हवाई क्षेत्र के भीतर थे. इसके अलावा, यह एक असैन्य हेलिकॉप्टर था, इसलिए भारतीय थल सेना को इस पर गोली नहीं चलानी चाहिए थी.’ उन्होंने कहा कि मानक परिचालन प्रक्रिया के मुताबिक, उड़ान भरने से पहले दोनों तरफ से सैन्य हेलिकॉप्टर एक-दूसरे को सूचित करते हैं, लेकिन यह असैन्य हेलिकॉप्टर था जिसकी वजह से इस बारे में सूचना देने की जरूरत नहीं थी. उन्होंने कहा कि वो उस इलाके में अक्सर आते-जाते रहते हैं, लेकिन ऐसी घटना पहले कभी नहीं हुई.

हैदर ने कहा कि वो पाकिस्तान सरकार को इस मामले से अवगत कराएंगे ताकि वो इस मुद्दे को उठाए और उचित कार्रवाई करे.

नेशनल असेंबली (एनए) में नेता प्रतिपक्ष और पीएमएल-नवाज के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने कहा कि यह हमला अंतरराष्ट्रीय एवं द्विपक्षीय कानूनों और राजनयिक नियमों का उल्लंघन है.

पीओके में पीएमएल-एन की सरकार है और हैदर इसी पार्टी के नेता हैं. पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने अब तक इस घटना पर कोई टिप्पणी नहीं की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi