विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

पीएम मोदी का इजरायल दौरा 4 जुलाई से, हो सकते हैं अहम समझौते

यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली इजरायल यात्रा होगी

FP Staff Updated On: Jul 03, 2017 06:35 PM IST

0
पीएम मोदी का इजरायल दौरा 4 जुलाई से, हो सकते हैं अहम समझौते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 4 से 6 जुलाई के बीच इजरायल की यात्रा पर जाएंगे. यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली इजरायल यात्रा होगी. मोदी की यात्रा इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के निमंत्रण पर हो रही है.

भारत और इजरायल के बीच राजनयिक संबंध 1992 में स्थापित हुए थे उसके बाद से आपसी संबंध लगातार बढ़े, लेकिन किसी प्रधानमंत्री ने इजरायल की यात्रा नहीं की. हालांकि, भारत के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी 2015 में इजरायल की यात्रा कर चुके हैं जिसमें द्विपक्षीय संबंध और ट्रेड को लेकर समझौते हुए थे.

विदेश मंत्रालय ने प्रधानमंत्री मोदी के यात्रा कार्यक्रम की जानकारी देते हुए कहा कि नेतन्याहू के साथ आपसी हित के मुद्दों पर विस्तार से बातचीत होगी. इस में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में एक-दूसरे के साथ सहयोग करने के भी मुद्दे शामिल होंगे. इसके अलावा अंतरिक्ष, विज्ञान और तकनीक और विकास संबंधी कई मुद्दों पर दोनों देश समझौता कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी अपनी इस यात्रा के दौरान इजरायल के राष्ट्रपति रयूवेन रिव्लिन और विपक्ष के नेता इसाक हेर्जोग से भी मुलाकात करेंगे.

मोदी की अगवानी खुद करेंगे नेतन्याहू 

मंगलवार को नेतन्याहू पीएम मोदी की अगवानी करने खुद एयरपोर्ट जाएंगे. इस तरह की विशेष अगवानी इजरायल में अब तक सिर्फ पोप और अमेरिका के राष्ट्रपति की ही हुई है. 5 जुलाई को पीएम मोदी के स्वागत में सामूहिक रात्रिभोज का भी आयोजन किया जा रहा है.

पीएम मोदी के आगमन पर इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने कहा कि अगले हफ्ते मेरे मित्र और भारत के प्रधानमंत्री इजरायल की ऐतिहासिक यात्रा पर आ रहे हैं. इजरायल को बने 70 साल हो गए हैं और इस बीच कोई भी भारतीय प्रधानमंत्री ने इजरायल का दौरा नहीं किया. इस वजह से यह दौरा इजरायल के सैनिक, आर्थिक और राजनयिक ताकत की भी एक झलक है. इस दौरे से दोनों देशों के संबंधों में मजबूती आएगी.

इससे पहले मोदी और नेतन्याहू आपस में संयुक्त राष्ट्र के कार्यक्रमों के दौरान दो बार मुलाकात कर चुके हैं.

एजेंसियों की खबरों के मुताबिक मोदी भारत और इजरायल के बीच रक्षा संबंधों को मजबूत करेंगे. इजरायल की रक्षा कंपनियों ने मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई ‘मेक इन इंडिया’ प्रोग्राम में अपनी दिलचस्पी दिखाई है. भारत इजरायल का सबसे बड़ा आर्म्स मार्केट है और भारत हर साल इजरायल से करीब 1 बिलियन डॉलर के हथियार खरीदता है.

इन जगहों पर भी जाएंगे मोदी 

मोदी येरुशलम के ऐतिहासिक किंग डेविड होटल में ठहरेंगे. इसके बाद मंगलवार को वे ‘शुद्ध कृषि’ की पद्धति को देखने जाएंगे. इस पद्धति में तकनीक का इस्तेमाल करके फसल की उत्पादकता बढ़ाई जाती है. वे पानी के मैनेजमेंट, ट्रीटमेंट और साफ करने की तकनीक को भी देखने जाएंगे.

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी इजरायल के हैफा में भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देंगे. 1918 में पहले विश्वयुद्ध के दौरान ब्रिटिश ब्रिगेड का हिस्सा रहे भारतीय सैनिकों ने हैफा को आजाद कराया था. आज भी इजरायल में हर साल इस घटना को याद किया जाता है और आधुनिक इजरायल के निर्माण में भारतीय सैनिकों का योगदान माना जाता है. भारत में भी हाल में राजधानी दिल्ली के तीन मूर्ति चौक को तीन मूर्ति हैफा चौक नाम दिया गया है.

इसके अलावा मोदी तेल अवीव में भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे. इजरायल में करीब 4000 भारतीय रहते हैं. वे रसायन, जीवविज्ञान और कृषि विज्ञान के छात्रों से भी मुलाकात और बातचीत करेंगे.

वे 26/11 के मुंबई आतंकी हमले में बचे बच्चे होल्त्ज्बर्ग मोशे से भी मुलाकात करेंगे, जिसकी उम्र अभी 10 साल है. मोशे के माता-पिता समेत 8 इजरायली नागरिक इस आतंकी हमले में मारे गए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi