S M L

मलेशिया पहुंचे पीएम मोदी, महातिर मोहम्मद से की मुलाकात

मोदी और महातिर के बीच व्यापार और निवेश के अलावा द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने पर चर्चा होने की संभावना है

FP Staff Updated On: May 31, 2018 09:59 AM IST

0
मलेशिया पहुंचे पीएम मोदी, महातिर मोहम्मद से की मुलाकात

तीन देशों की यात्रा के दौरान इंडोनेशिया का दौरा करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को मलेशिया पहुंचे. यहां उन्होंने देश के नव - निर्वाचित प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद से मुलाकात की.

मलेशिया के प्रधानमंत्री के रूप में 92 वर्षीय महातिर मोहम्मद ने 10 मई को शपथ ग्रहण किया. दुनिया के सबसे उम्र दराज निर्वाचित नेता महातिर के नेतृत्व में विपक्षी गठबंधन ने हाल मे संपन्न आम चुनावों में बारिसन नेशनल (बीएन) गठबंधन पर जीत हासिल की. बीएन मलेशिया में 1957 से सत्ता में थी.

मोदी और महातिर के बीच व्यापार और निवेश के अलावा द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने पर चर्चा होने की संभावना है.

नई दिल्ली में ही मोदी ने कहा था कि इंडोनेशिया से सिंगापुर जाने के दौरान वह कुछ समय के लिए मलेशिया में रूककर महातिर से मुलाकात करेंगे और नए मलेशियाई नेतृत्व को बधाई देंगे.

मलेशिया से प्रधानमंत्री मोदी सिंगापुर जाएंगे , जहां वह वार्षिक सुरक्षा बैठक शांगरी - ला डायलॉग में कल अहम भाषण देंगे.

इंडोनेशिया की पहली सरकारी यात्रा के दौरान मोदी ने राष्ट्रपति जोको विदोदो के साथ ‘सकारात्मक चर्चा’ की. साथ ही साथ एक ऐसी योजना पर बात आगे बढ़ी है जो चीन को काउंटर करने के लिहाज से काफी अहम है.

बुधवार को जकार्ता में पीएम मोदी ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विदोदो से मर्डेका पैलेस में मुलाकात की. इसके बाद दोनों नेताओं से संयुक्त रूप से मीडिया को संबोधित किया. इस दौरान दोनों नेताओं ने इंडोनेशियाई नौसेना बंदरगाह विकसित करने की योजना के बारे में चर्चा की और दोनों देशों के बीच समुद्री सहयोग बढ़ाने को लेकर भी बातें हुईं.

पीएम मोदी और राष्ट्रपति विदोडो ने सबांग बंदरगाह में आर्थिक क्षेत्र और इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने पर भी चर्चा की. मोदी ने कहा कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र के विकास के लिए दोनों देशों के विजन एक जैसे हैं. दोनों नेताओं ने अपने बयानों में स्वतंत्र, खुला, पारदर्शी, शांतिपूर्ण, समृद्ध और समावेशी हिंद-प्रशांत क्षेत्र की वकालत की. इस दौरान दोनों देशों के बीच 15 MoUs पर साइन भी हुए.

भारत और इंडोनेशिया के बीच रक्षा सहयोग को बढ़ावा देने और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में नौवहन की स्वतंत्रता सहित 15 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi