S M L

मुशर्रफ ने फिर कहा, लश्कर और जमात-उद-दावा देशभक्त संगठन

मुशर्रफ ने कहा कि 'वो लोग देशभक्त हैं. ऊंचे दर्ज के देशभक्त. उन्होंने पाकिस्तान के लिए अपना जीवन समर्पित किया है. उनके पास जनता का समर्थन है'

FP Staff Updated On: Dec 17, 2017 04:38 PM IST

0
मुशर्रफ ने फिर कहा, लश्कर और जमात-उद-दावा देशभक्त संगठन

पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ ने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा को देशभक्त करार दिया है.

मुशर्रफ ने शनिवार को कहा कि वह पाकिस्तान की सुरक्षा के लिए लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा के साथ गठबंधन करने के लिए तैयार हैं. मुशर्रफ ने यह बात अपने उस बयान के लगभग महीने भर बाद कही है, जिसमें उन्होंने खुद को इन दो संगठनों का सबसे बड़ा समर्थक करार दिया था.

पाकिस्तानी चैनल एआरवाई न्यूज़ ने मुशर्रफ के बयान का हवाले देकर कहा, 'वो लोग देशभक्त हैं. ऊंचे दर्ज के देशभक्त. उन्होंने पाकिस्तान के लिए अपना जीवन समर्पित किया है. उनके पास जनता का समर्थन है. अगर वो कोई राजनीतिक पार्टी बनाते हैं तो उसपर कौन आपत्ति कर सकता है.'

मुशर्रफ ने कहा कि अब तक इन दोनों संगठनों ने उनसे गठबंधन के लिए संपर्क नहीं किया है, लेकिन अगर वो साथ आना चाहते हैं तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है. उन्होंने कहा, 'मैं उदारवादी हूं, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि मैं धार्मिक रुझान वाले लोगों से नफरत करता हूं. मैं लश्कर-ए-तैयबा का सबसे बड़ा समर्थक हूं. मैं जानता हूं कि लश्कर और जमात के लोग भी मुझे पसंद करते हैं.'

74 साल के मुशर्रफ ने अपने खतरनाक मंसूबे जाहिर करते हुए कहा कि वो कश्मीर में आतंकवाद का समर्थन करते हैं.

मुशर्रफ ने महीने भर पहले भी कहा था कि वो मुंबई हमले के मास्टमाइंड हाफिज सईद को पसंद करते हैं. उन्होंने उससे मुलाकात भी की है.

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि वह कश्मीर में आतंकी हरकतों का समर्थन करते हैं और वहां भारतीय सेना से लड़ने में लश्कर और जमात सबसे आगे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi