विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

फिर हुआ पेरिस में आतंकी हमला, एक पुलिस अधिकारी की मौत

हमलावर को मार गिराया गया है

FP Staff Updated On: Apr 21, 2017 02:30 PM IST

0
फिर हुआ पेरिस में आतंकी हमला, एक पुलिस अधिकारी की मौत

फ्रांस की राजधानी पेरिस में एक बंदूकधारी ने एक पुलिस अधिकारी की हत्या कर दी और एक अन्य को घायल कर दिया. बाद में हमलावर को मार गिराया गया.

यह हमला पेरिस के चैम्स-एलीसीस शॉपिंग डिस्ट्रिक में हुआ.

पेरिस पुलिस की प्रवक्ता जोहाना प्राइमवर्ट ने बताया कि हमलावर ने फ्रैंकलिन रूसवेल्ट सबवे स्टेशन के निकट गुरुवार रात पुलिस को निशाना बनाया.

यह हमला फ्रांस के राष्ट्रपति चुनाव के पहले चरण के मतदान से तीन दिन पहले किया गया है. चुनाव को देखते हुए पूरे देश में सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएसआईएस ने ली है. जिहादिस्ट प्रोपेगेंडा एजेंसी अमाक के हवाले से न्यूज एजेंसी एएफपी ने इसका दावा किया है. हमलावर का नाम अबु यूसुफ बताया जा रहा है. जो पेरिस का ही रहने वाला है और आईएसआईएस का लड़ाका था. उसकी उम्र 39 साल बताई जा रही है.

आईएस की समाचार एजेंसी अमाक द्वारा प्रकाशित एक बयान में कहा गया, ‘‘मध्य पेरिस के चैम्प्स एलीसीस में हमला करने वाला व्यक्ति बेल्जियम का नागरिक अबु यूसुफ है और वह इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों में से एक है.’’

सूत्रों ने बताया कि हमलावर के बारे में फ्रांस की आतंकवाद रोधी पुलिस जानती थी और पेरिस के पूर्व में एक उपनगर में उसके पते पर छापे मारे गए हैं.

पर्यवेक्षक काफी पहले से फ्रांस में रविवार को होने वाले चुनाव से पहले हमले की आशंका जता रहे थे. फ्रांस में वर्ष 2015 के बाद से आतंकवादियों ने कई हमले किए हैं जिनमें 230 लोगों की मौत हुई है. दशकों में अब तक के सबसे अप्रत्याशित चुनावों में से एक माने जा रहे इस चुनाव के परिणाम पर इसका प्रभाव अस्पष्ट है लेकिन दक्षिणपंथी नेता मारिन ली पेन और कन्जर्वेटिव नेता फ्रांस्वा फिलोन ने आज के लिए अपने प्रचार कार्यक्रम तत्काल रद्द कर दिए.

अब तक के चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों के अनुसार, मतदाता आतंकवाद या असुरक्षा के बजाए बेरोजगारी और उनकी खर्च करने की क्षमता के बारे में अधिक चिंतित हैं लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि और रक्तपात होने पर मतदाताओं का यह रुख बदल सकता है.

इस हमले से दो दिन पहले ही दक्षिणी मार्सिले में दो लोगों को हथियार एवं विस्फोटकों के साथ गिरफ्तार किया गया था जिन पर चुनाव प्रचार मुहिम को बाधित करने के लिए हमले की तैयारी करने का संदेह था.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने एक बार फिर हुए हमले के बाद राष्ट्र को संबोधित करते हुए, ‘‘विशेषकर चुनावी प्रक्रिया के संबंध में अत्यंत सतर्कता’’ बरतने का वादा किया और पुलिस अधिकारी को श्रद्धांजलि दी.

इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हमले को लेकर संवेदना प्रकट की और कहा, ‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि यह एक अन्य आतंकवादी हमला है. आप क्या कह सकते हैं? यह खत्म ही नहीं हो रहा. हमें मजबूत और सतर्क होना होगा और मैं लंबे समय से यह कह रहा हूं.’’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi