S M L

गरीबों के अकाउंट से करोड़ों का लेनदेन कर पैसे भेज रहे देश से बाहर

मनी लॉन्डरिंग स्कीम की वजह से पेरिस स्थित एंटी मनी लॉंडरिंग मॉनिटर - फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) ने इस साल फिर से पाकिस्तान को वॉचलिस्ट में रखा

Updated On: Oct 28, 2018 03:47 PM IST

FP Staff

0
गरीबों के अकाउंट से करोड़ों का लेनदेन कर पैसे भेज रहे देश से बाहर
Loading...

रिक्शा चलाने वाले मोहम्मद राशिद ने तीन साल कड़ी मेहनत करके और एक एक रुपया बचाकर अपनी बेटी के लिए एक साइकिल खरीदी. ऐसे में जैसे ही राशिद को पता चलता है कि उनके नाम के एक बैंक अकाउंट के जरिए 22.5 मीलियन डॉलर यानी तीन सौ करोड़ रुपए के लेनदेन हुई है तो उनके हाथ पांव फूल गए. वो हैरान हैं. 43 साल के राशिद ने कहा- मैं डर से थरथर कांपने लगा.

राशिद पाकिस्तान में व्याप्त मनी लॉन्ड्रिंग स्कीम के ताजा शिकार हैं. पाकिस्तान के नए बने पीएम इमरान खान ने इस धोखाधड़ी को खत्म करने का प्रण लिया है. न्यूज18 के मुताबिक राशिद को जब एफआईए (फेडेरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी) का फोन आया तो पहले तो राशिद ने सोचा कि वो कहीं जाकर छुप जाए. लेकिन उसके दोस्तों और परिवार वालों ने उन्हें समझाया कि वो जांच अधिकारियों की मदद करें.

राशिद का मामला पिछले कुछ हफ्ते से पाकिस्तान में चल रही ऐसी ही धोखाधड़ी की कहानियों में से एक है. सभी घटनाएं एक ही तरीके से होती हैं. घोटालेबाज गरीब लोगों के अकाउंट में भारी मात्रा में कैश डाल देते हैं. और उसके बाद उसे अचानक ही खाली कर देते हैं. मनी लॉन्ड्रिंग के इस तरीके से अभी तक करोड़ों डॉलर पाकिस्तान से बाहर भेजे जा चुके हैं.

FATF ने वॉच लिस्ट में फिर से डाला:

हालांकि जांच के बाद राशिद को निर्दोष करार दे दिया लेकिन फिर भी वो और उनका परिवार चिंतित है. मनी लॉन्ड्रिंग के इस तरीके के खुलासे के बाद पाक पीएम इमरान खान ने इसे खत्म करने और देश से बाहर भेजे पैसों को वापस लाने का प्रण लिया है.

मनी लॉन्डरिंग स्कीम की वजह से पेरिस स्थित एंटी मनी लॉंडरिंग मॉनिटर - फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) ने इस साल फिर से पाकिस्तान को वॉचलिस्ट में रखा. क्योंकि वो टेरर फंडिंग से निपटने में नाकाम रहा है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi