विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

ट्रंप की नई अफगान नीति से करीब आ सकते हैं रूस, चीन और पाकिस्तान

अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को किनारे किए जाने पर वह चीन और रूस के साथ अपना सहयोग बढ़ा देगा

Bhasha Updated On: Aug 21, 2017 04:03 PM IST

0
ट्रंप की नई अफगान नीति से करीब आ सकते हैं रूस, चीन और पाकिस्तान

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नई अफगान नीति की वजह से पाकिस्तान चीन और रूस के करीब आ सकता है.

ट्रंप सोमवार रात अफगानिस्तान के लिए नई रणनीति की घोषणा करने वाले हैं.

कहा जा रहा है कि अपनी नीति की समीक्षा के दौरान ट्रंप प्रशासन ने भारत की भूमिका को महत्त्वपूर्ण माना है. रविवार को अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने इस बात की पुष्टि की कि नई नीति एक 'कम्पलीट साउथ एशिया स्ट्रैटेजी' है.

ऐसा माना जा रहा है कि नई रणनीति के तहत भारत की भूमिका बड़ी हो सकती है. ऐसे में अफगानिस्तान में कम होती अपनी हैसियत को देखते हुए पाकिस्तान अमेरिका के विरोधियों रूस और चीन के करीब चला जाएगा. पाकिस्तान भारत पर अफगानिस्तान के जरिए ब्लूचिस्तान में अशांति फैलाने का आरोप लगता रहा है.

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार ने इस योजना से संबंधित दो अधिकारियों के हवाले से कहा कि पाकिस्तान नई अफगान रणनीति के नतीजों पर गौर कर रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के अधिकारियों ने यह स्वीकार किया है कि आने वाले महीनों में इस्लामाबाद के सब्र की परीक्षा होने वाली है.

'नहीं बचेगा कोई और रास्ता'

एक अधिकारी ने बताया कि अमेरिका की ओर से पाकिस्तान पर कोई कठोर कदम उठाए जाने की सूरत में पाकिस्तान के पास चीन और रूस के साथ अपना सहयोग बढ़ाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचेगा.

पाकिस्तान और चीन के नेताओं ने अपने संबंधों को बेहद मजबूत बताया है. दोनों देशों के बीच एक पहल के तहत 50 अरब डॉलर का चीन-पाकिस्तान इकनोमिक कॉरिडोर पाक-अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरता है.

रिपोर्ट में दावा किया गया कि रूस के साथ पाकिस्तान के संबंध भी शीत युद्ध के दौर की दुश्मनी से आगे बढ़ चुके दिखाई देते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi