S M L

पाकिस्तान के राष्ट्रपति भवन ने बच्चे का भाषण चुराया!

सबील का आरोप है कि राष्ट्रपति भवन के अधिकारियों ने अपनी निजी पसंद और पक्षपात के चलते ऐसा किया है.

Updated On: Dec 26, 2016 10:16 AM IST

FP Staff

0
पाकिस्तान के राष्ट्रपति भवन ने बच्चे का भाषण चुराया!

विदेशी तकनीक चुराकर अपने हथियार बनाने का आरोप पाकिस्तान के हुक्मरानों पर लगता रहा है. लेकिन अब वहां के राष्ट्रपति ममनून हुसैन पर छठी में पढ़ने वाले एक बच्चे ने भाषण चुराने का आरोप लगाया है. 11 साल के मुहम्मद सबील हैदर ने इस्लामाबाद हाईकोर्ट में अर्जी दाखिल कर राष्ट्रपति कार्यालय के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

सबीर ने क़ायद-ए-आजम मोहम्मद अली जिन्ना की सालगिरह के लिए एक भाषण लिखा था. अब उसका कहना है कि राष्ट्रपति कार्यालय उसके लिखे भाषण के कुछ अंश चुरा लिए. भाषण के इन अंशों का इस्तेमाल भी किया गया.

पाकिस्तानी समाचार चैनल समा टीवी ने इस बच्चे के हवाले से बताया कि वो 22 दिसंबर को राष्ट्रपति भवन में क़ायद-ए-आजम पर अपना भाषण देने वाला था. वह 14 दिसंबर से रोजाना राष्ट्रपति भवन में होने वाली रिहर्सल में रोजाना अपने भाषण का रियाज भी करता था.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की माने तो इस बच्चे ने रियाज में हिस्सा लेने के लिए 15 और 19 दिसंबर को अंग्रेजी और सामान्य विज्ञान की परीक्षा भी छोड़ी. यह इम्तिहान हर साल दिसंबर में होने वाले सालाना टेस्ट का हिस्सा था.

कराची से छपने वाले अंग्रेजी अखबार द न्यूज इंटरनेशनल ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि इम्तिहान होने के बावजूद क़ायद-ए-आजम से मोहब्बत के चलते इस बच्चे ने भाषण देना कबूला था. जिन्ना की 141वीं सालगिरह को ‘क़ायद-ए-आजम और बच्चे’ शीर्षक से मनाया जा रहा था.

MohammadAliJinnah

पीड़ित सबील हैदर ने इस जलसे के लिए ड्रेस कोड के मुताबिक नए कपड़े भी बनवा लिए थे. लेकिन सबील को ऐन वक्त पर बताया गया कि अब जलसे में भाषण वह नहीं बल्कि कोई दूसरी लड़की देने वाली है.

सबील का आरोप है कि राष्ट्रपति भवन के अधिकारियों ने अपनी निजी पसंद और पक्षपात के चलते ऐसा किया है.

इस्लामाबाद हाईकोर्ट में दाखिल अपनी अर्जी में सबील ने कहा कि राष्ट्रपति भवन की इस हरकत से उसे जहनी ठेस पहुंची है. वो खुद को अपमानित महसूस कर रहा है.

यह अर्जी पाकिस्तान में इंटलेक्चुल प्रॉपर्टी और कॉपीराइट अध्यादेश 1967 की धारा 3 के अंतर्गत दाखिल की गई है. कोर्ट ने इस मसले पर अभी अपना फैसला सुरक्षित रखा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi