S M L

2019 के लोकसभा चुनाव के बाद भारत की तरफ फिर दोस्ती का हाथ बढ़ाऊंगा: इमरान

पाक पीएम ने अगस्त में सत्ता संभालने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर सुझाव दिया था कि सितंबर में संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) से इतर दोनों के विदेश मंत्रियों की बैठक की जाए

Updated On: Oct 23, 2018 08:23 PM IST

Bhasha

0
2019 के लोकसभा चुनाव के बाद भारत की तरफ फिर दोस्ती का हाथ बढ़ाऊंगा: इमरान
Loading...

पाकिस्तान ने फिर से भारत के साथ दोस्ती और मेलजोल का राग अलापा है. पाक पीएम इमरान खान का मानना है कि भारत में 2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं. और भारत के चुनाव में पाकिस्तान एक मुख्य मुद्दा है इसलिए भारत सरकार ने बातचीत की उनकी मांग को ठुकरा दिया है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि वह भारत में 2019 के लोकसभा चुनावों के बाद उसकी तरफ दोस्ती का हाथ एक बार फिर बढ़ाएंगे. रियाद में फ्यूचर इन्वेस्टमेंट इनीशिएटिव फोरम को संबोधित करते हुए खान ने कहा कि पाकिस्तान अपने सभी पड़ोसियों और खासकर भारत और अफगानिस्तान के साथ शांति चाहता है.

सरकारी रेडियो पाकिस्तान ने खान के हवाले से कहा, ‘भारत के साथ शांति से दोनों देशों को शस्त्र स्पर्धा में लिप्त होने के बजाय अपने संसाधनों का उपयोग मानव विकास के लिए करने में मदद मिलेगी.’

उन्होंने कहा कि इसी तरह अफगानिस्तान में शांति से पाकिस्तान को द्विपक्षीय आर्थिक तथा व्यापार गतिविधियों के लिए मध्य एशियाई देशों तक आसान पहुंच का मार्ग सुलभ होगा.

सितंबर में बातचीत की पेशकश की थी:

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अगस्त में सत्ता संभालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर सुझाव दिया था कि सितंबर में संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) से इतर दोनों के विदेश मंत्रियों की बैठक की जाए.

भारत ने पहले तो प्रस्ताव स्वीकार कर लिया था, लेकिन कुछ ही घंटों के भीतर आतंकवादियों ने जम्मू कश्मीर में तीन पुलिसकर्मियों को मार दिया. इसके बाद नयी दिल्ली ने यूएनजीए से इतर विदेश मंत्रियों की बैठक रद्द कर दी थी.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi