S M L

पाकिस्तान: अब राष्ट्रपति, चीफ जस्टिस नहीं कर सकेंगे फर्स्ट क्लास हवाई यात्रा

इमरान खान सरकार ने कैबिनेट की हुई दूसरी मीटिंग में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए. इसमें सरकारी संस्‍थानों में कामकाज के समय में बदलाव किया है. साथ ही प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्रियों और नेशनल असेंबली के सदस्‍यों के विवेकाधीन फंड भी समाप्‍त कर दिए हैं

Updated On: Aug 25, 2018 11:39 AM IST

FP Staff

0
पाकिस्तान: अब राष्ट्रपति, चीफ जस्टिस नहीं कर सकेंगे फर्स्ट क्लास हवाई यात्रा
Loading...

पाकिस्‍तान में नवगठित इमरान खान के नेतृत्‍व वाली सरकार ने राष्‍ट्रपति, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस, सीनेट चेयरमैन और नेशनल असेंबली के स्‍पीकर की फर्स्‍ट क्‍लास हवाई यात्राओं पर रोक लगा दी है. केंद्रीय कैबिनेट ने इस संबंध में आदेश जारी किया है.

पिछले सप्ताह देश की सत्ता संभालने के बाद इमरान खान ने आक्रामक अंदाज में सुधारवादी कदम उठाए हैं. उन्होंने सरकारी संस्‍थानों में काम के समय में भी बदलाव किया है. साथ ही प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्रियों और नेशनल असेंबली के सदस्‍यों के विवेकाधीन फंड समाप्‍त कर दिए हैं.

कैबिनेट की दूसरी मीटिंग में यह फैसला लिया गया. इसमें रविवार को आधिकारिक साप्‍ताहिक छुट्टी रखने और शनिवार की दूसरी छुट्टी को रद्द करने के प्रस्‍ताव को भी खारिज कर दिया गया. वहीं सरकारी दफ्तरों में काम के घंटों में बदलाव नहीं किया गया है. यह पहले की तरह ही 8 घंटे रहेंगे लेकिन समय बदलकर 8 से 4 के बजाय 9 से 5 कर दिया गया है.

Pakistan Imran Khan Oath

इमरान खान ने देश की सत्ता संभालने के बाद सरकारी खर्च में कटौती संबंधी कड़े फैसले लिए हैं (फोटो: पीटीआई)

बैठक में पंजाब और खैबर पख्‍तूनख़्वा प्रांत में पिछली सरकार के समय शुरू किए गए सभी बड़े ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्‍ट की ऑडिट करने का फैसला भी किया गया. इसमें यह फैसला लिया गया कि प्रधानमंत्री केवल घरेलू दौरों के लिए आधिकारिक विमान का उपयोग करेंगे. एक अन्‍य बड़े फैसले में देशभर में अस्‍थायी घरों को अपग्रेड करने के लिए टास्‍फ फॉर्स बनाने और बड़े शहरों में पेड़ लगाने के अभियान को भी मंजूरी दी गई.

बैठक में राजधानी प्रशासन और विकास विभाग मंत्रालय को समाप्‍त करने और इसके विभागों को अन्‍य मंत्रालयों में मिलाने को भी मंजूरी दी गई. डॉन न्‍यूज़ के अनुसार, पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अपनी शक्तियों का इस्‍तेमाल करते हुए एक साल में ही 2915 करोड़ रुपए खर्च कर दिए थे. इसी तरह से राष्‍ट्रपति ममनून हुसैन ने अपने विवेक के तहत फैसला लेते हुए 90 मिलियन पाकिस्‍तानी रुपए वितरित कराए थे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi