S M L

जेल में बंद नवाज़ शरीफ की किडनी फेल होने का बढ़ा खतरा, अस्पताल रेफर करने की सिफारिश

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूर्व प्रधानमंत्री के यूरिन में नाइट्रोजन खतरनाक लेवल तक बढ़ गया है, उनके दिल की धड़कनें अनियमित हैं और वो डिहाइड्रेशन से पीड़ित हैं

FP Staff Updated On: Jul 23, 2018 08:48 AM IST

0
जेल में बंद नवाज़ शरीफ की किडनी फेल होने का बढ़ा खतरा, अस्पताल रेफर करने की सिफारिश

जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ की तबीयत बिगड़ गई है. पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उनकी किडनी फेल होने का खतरा बढ़ गया है. इसे देखते हुए मेडिकल बोर्ड ने उन्हें तुरंत रावलपिंडी जेल से अस्पताल रेफर करने को कहा है.

एक्स्प्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार नवाज़ के यूरिन (पेशाब) में नाइट्रोजन खतरनाक लेवल तक बढ़ गया है, उनके दिल की धड़कनें अनियमित हैं और वो डिहाइड्रेशन से पीड़ित हैं.

खबरों के अनुसार, रावलपिंडी के अडियाला जेल में मौजूद अस्पताल में ऐसी सुविधाएं मौजूद नहीं हैं जिससे नवाज़ शरीफ को नसों के जरिए फ्लूइड चढ़ाया जा सके. इसलिए उन्हें फौरन अस्पताल में शिफ्ट करने की जरूरत है. ऐसा नहीं होने पर उनकी तबीयत और भी खराब हो सकती है. रिपोर्ट्स के अनुसार जेल की परिस्थितियों के चलते नवाज़ को बहुत पसीना आ रहा है.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, रावलपिंडी इंस्टिट्यूट ऑफ कार्डियॉलजी के चीफ एक्जिक्यूटिव मेजर जनरल (रिटायर्ड) डॉ. अजहर महमूद कयानी के नेतृत्व में डॉक्टरों की टीम ने जेल में नवाज़ शरीफ का मेडिकल चेकअप किया और एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार की. यह मेडिकल रिपोर्ट पंजाब के हेल्थ सेक्रेटरी को भेज दी गई है. इसमें सुझाव दिया गया है कि शरीफ को तत्काल अस्पताल में शिफ्ट किया जाना चाहिए.

Pakistan Rawalpindi Adiala Jail

रावलपिंडी के इसी अडियाला जेल में नवाज़ शरीफ और उनकी बेटी मरयम को बंदी बनाकर रखा गया है

पाकिस्तान की अंतरिम सरकार इस बारे में जल्द फैसला ले सकती है.

पाकिस्तान की जवाबदेही अदालत ने पिछले दिनों नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरयम और उनके दामाद को भ्रष्टाचार के मामले में दोषी ठहराते हुए क्रमश: 10 साल, 7 साल और 1 साल की सजा सुनाई थी. नवाज शरीफ और मरयम को विदेश से लौटने के बाद 13 जुलाई को लाहौर हवाईअड्डे से गिरफ्तार कर लिया गया था. जिसके बाद से दोनों को रावलपिंडी स्थित अडियाला जेल में रखा गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi