S M L

कानून मंत्री के इस्तीफे के बाद पाकिस्तान में प्रदर्शन रुका

कानून और संसदीय कार्य मंत्री हामिद ने देश को ‘संकट की स्थिति’ से बाहर निकालने के लिए अपना इस्तीफा प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी को सौंप दिया

Updated On: Nov 27, 2017 04:50 PM IST

Bhasha

0
कानून मंत्री के इस्तीफे के बाद पाकिस्तान में प्रदर्शन रुका

पाकिस्तान के कानून मंत्री जाहिद हामिद के इस्तीफे के बाद कट्टरपंथी धार्मिक समूहों से जुड़े प्रदर्शनकारियों ने इस्लामाबाद और कई अन्य शहरों में अपना प्रदर्शन बंद कर दिया. देश भर में कट्टरपंथी धार्मिक संगठनों से ताल्लुक रखने वाले प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई हिंसक झड़पों के बाद हामिद ने इस्तीफा दिया है. प्रदर्शन की वजह से तीन सप्ताह तक राष्ट्रीय राजधानी में गतिविधियां ठप रहीं. झड़पों में छह लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए.

प्रधानमंत्री निवास के एक अधिकारी ने पुष्टि की है कि कानून मंत्री ने रविवार रात प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी को अपना इस्तीफा भेजा जिन्होंने उसे स्वीकार कर लिया. राजधानी में पिछले तीन सप्ताह से धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी निर्वाचन कानून 2017 से जुड़े हलफनामे में ‘खत्म-ए-नबुव्वत’ संबंधी एक कानून में हुए बदलावों के लिए कानून मंत्री को जिम्मेदार बताते हुए उनके इस्तीफे की मांग कर रहे थे.

हलफनामे में बदलाव था विवाद की जड़ 

तहरीक ए खत्म ए नबुव्वत, तहरीक ए लबाइक या रसूल अल्लाह (टीएलवाई) और सुन्नी तहरीक पाकिस्तान (एसटी) धार्मिक समूहों ने तीन सप्ताह पहले प्रदर्शन शुरू किया था. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्य मांगों को स्वीकार कर लिए जाने के बाद प्रदर्शनकारियों ने प्रर्दशन बंद करने का आह्वान किया. कानून में किया गया संशोधन पहले ही वापस लिया जा चुका है.

समझौते और हामिद के इस्तीफे के बाद टीएलवाई प्रमुख खादिम हुसैन रिजवी ने देश भर में अपने अनुयायियों को धरना खत्म कर अपने घर लौटने का आदेश दिया. चुनाव सुधार के संबंध में संसद में लाए गए संशोधन विधेयक के तहत नामांकन के दौरान दिए जाने वाले हलफनामे में किए गए बदलाव को प्रदर्शनकारी मानने को राजी नहीं थे और इस संबंध में हामिद के इस्तीफे की मांग कर रहे थे.

इन बदलावों से पहले मुसलमान उम्मीदवारों को अपने हलफनामे में यह लिखित देना होता था कि पैगम्बर मोहम्मद मुसलमानों के अंतिम पैगम्बर थे और उनके बाद और कोई नहीं होगा. संशोधन के दौरान इसी प्रावधान में तब्दीलियां की गई थीं.

कानून और संसदीय कार्य मंत्री हामिद ने देश को ‘संकट की स्थिति’ से बाहर निकालने के लिए अपना इस्तीफा प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी को सौंप दिया. प्रदर्शनकारियों और सरकार के बीच हुए समझौते के बाद हामिद ने इस्तीफा दिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi