S M L

नेहरू के डेंटिस्ट के बेटे आरिफ अल्वी बने पाकिस्तान के नए राष्ट्रपति

अलवी पीटीआई के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं. वो 2006 से 2013 तक पार्टी के महासचिव रहे हैं

Updated On: Sep 05, 2018 11:27 AM IST

FP Staff

0
नेहरू के डेंटिस्ट के बेटे आरिफ अल्वी बने पाकिस्तान के नए राष्ट्रपति
Loading...

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी सहयोगी और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के संस्थापक सदस्यों में शामिल डॉ आरिफ अलवी को मंगलवार को पाकिस्तान का नया राष्ट्रपति चुना गया.

पीटीआ ने अपनी वेबसाइट पर आरिफ अल्वी के भारत कनेक्शन का जिक्र किया है. दरअसल, पाकिस्तान के नए राष्ट्रपति बने आरिफ अल्वी के पिता डॉ. हबीब उर रहमान इलाही अल्वी भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के डेंटिस्ट रहे थे.

69 साल के पूर्व डेंटिस्ट अलवी ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार ऐतजाज अहसन और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के उम्मीदवार मौलाना फजल उर रहमान को त्रिकोणीय मुकाबले में मात दी और देश के 13वें राष्ट्रपति चुने गए.

अनाधिकारिक नतीजों के हवाले से बताया गया कि नेशनल असेंबली और सीनेट में पड़े कुल 430 मतों में से अलवी को 212 मत मिले, रहमान को 131 और अहसन को 81 मत मिले. छह मत खारिज़ कर दिए गए.

एक अखबार के मुताबिक, बलूचिस्तान के नव निर्वाचित सांसदों के डाले गए 60 मतों में से अलवी को 45 मत मिले. पीपीपी के प्रभाव वाली सिंध विधानसभा में अहसन को 100 मत मिले, जबकि अलवी को 56 मतों से संतोष करना पड़ा. रहमान के पक्ष में केवल एक मत पड़ा.

खैबर पख्तूनख्वा विधानसभा में अलवी को कुल 109 में से 78 मत मिले. वहीं रहमान और अहसन को क्रमश: 26 और पांच मत मिले. पंजाब विधानसभा में अलवी को 186 मत मिले जबकि रहमान और अहसन को क्रमश: 141 और 6 मत मिले. 18 मत खारिज़ कर दिए गए.

जीत के बाद अपने पहले भाषण में अलवी ने प्रधानमंत्री खान को उन्हें इतनी बड़ी ज़िम्मेदारी के लिए नामांकित करने पर धन्यवाद दिया. अलवी ने कहा, 'आज से मैं सिर्फ पीटीआई की ओर से नामित राष्ट्रपति नहीं हूं, बल्कि मैं पूरे देश और सभी दलों का राष्ट्रपति हूं. सभी दल मेरे समक्ष समान हैं.'

निवर्तमान राष्ट्रपति ममनून हुसैन का पांच साल का कार्यकाल आठ सितंबर को समाप्त हो रहा है. ऐसे में अलवी नौ सितंबर को पद की शपथ लेंगे. अलवी ने कहा कि शपथ ग्रहण समारोह में वो विपक्ष सहित सभी को आमंत्रित करेंगे.

उन्होंने कहा, 'मेरा राजनीतिक संघर्ष अय्यूब खान के शासन काल 1967 से चल रहा है. हालांकि मेरा मानना है कि तब से अब तक राष्ट्र में बहुत जागरूकता आई है. राष्ट्रपति ने संविधान में किए गए वादों को दोहराया.

अलवी पीटीआई के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं. वो 2006 से 2013 तक पार्टी के महासचिव रहे हैं. 25 जुलाई को हुए चुनाव में अलवी एनए-247 (कराची) सीट से जीतकर नेशनल एसेम्बली पहुंचे थे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi