S M L

पाक आर्मी के खिलाफ लिखने के लिए DAWN के जर्नलिस्ट को मिला वारंट

सायरिल अल्मीडा ने पाकिस्तानी सेना के खिलाफ कुछ रिपोर्ट लिखी हैं. उनपर देशद्रोह का केस चल रहा है

Updated On: Sep 25, 2018 03:29 PM IST

FP Staff

0
पाक आर्मी के खिलाफ लिखने के लिए DAWN के जर्नलिस्ट को मिला वारंट

पाकिस्तान के एक वरिष्ठ पत्रकार को लाहौर हाईकोर्ट ने गैर-जमानती वारंट जारी किया है. पाकिस्तानी अखबार डॉन के असिस्टेंट एडिटर और कॉलमिस्ट सिरिल अल्मीडा पर पाकिस्तानी सेना की संवेदनशील जानकारी को लीक करने का आरोप लगा है.

सोमवार को लाहौर हाईकोर्ट ने अल्मीडा के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया और उनका नाम नो-फ्लाइ लिस्ट में डालने का भी आग्रह किया, ताकि वो देश से बाहर न जा सकें. अल्मीडा पर देशद्रोह का केस चल रहा है.

ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, सिरिल के खिलाफ गैर-जमानती वारंट इसलिए जारी किया गया है क्योंकि वो पिछली कई सुनवाइयों में पेश नहीं हुए हैं. अब ये वारंट जारी होने के बाद अल्मीडा को 8 अक्टूबर को केस के सामने पेश होना है.

बता दें कि अंग्रेजी दैनिक अखबार के कॉलमिस्ट सिरिल अल्मीडा ने पाकिस्तानी सेना के खिलाफ कुछ रिपोर्ट लिखी हैं, जिसके चलते देश की सर्वेसर्वा आर्मी नाराज है.

अल्मीडा ने सोमवार को ट्विटर पर इसकी जानकारी भी दी. उन्होंने ये बताया कि उन्हें एग्जिट कंट्रोल लिस्ट यानी नो-फ्लाई लिस्ट में डाल दिया गया है. उन्होंने लिखा, 'वकील से बात की. वारंट जारी हुआ है, फिर से ईसीएल में आ गया हूं. आठ अक्टूबर को कोर्ट में पेश होना है. आपका सोमवार कैसा बीता?'

अल्मीडा डॉन में आर्मी के खिलाफ लिखते रहे हैं. चूंकि पाकिस्तान में आर्मी की हैसियत वहां की सरकार से भी ऊंची है और इसका देश की सत्ता में अच्छा-खासा दखल है, इसलिए सिरिल अपनी पत्रकारिता के लिए देशद्रोह के मामले से झेल रहे हैं.

अल्मीडा ने 2016 में एक रिपोर्ट लिखी थी जिसमें पाकिस्तान में चल रहे कुछ विद्रोही समूहों के खिलाफ सेना की कथित निष्क्रियता पर वर्तमान की नवाज शरीफ की सरकार और पाकिस्तानी सेना की मुख्य जासूसी एजेंसी के चीफ के बीच टकराव का जिक्र किया गया था.

उन्होंने नवाज शरीफ का एक इंटरव्यू भी लिया था, जिसमें शरीफ ने सेना पर उन्हें एक साल पहले सत्ता से उखाड़ फेंकने की साजिश करने का आरोप लगाया था. साथ ही अल्मीडा के इस इंटरव्यू में ये भी लिखा गया था कि शरीफ ने कहा था कि पाकिस्तान 2008 मुंबई हमलों को और अच्छी तरह से हैंडल कर सकता था. उनका आरोप था कि पाकिस्तान इन हमलों को रोकने के लिए कुछ कर सकता था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi