S M L

फर्जी वीडियो से बाबर मिसाइल के परीक्षण का पाकिस्तानी झूठ

परीक्षण का जो वीडियो पाकिस्तान ने दुनिया के सामने पेश किया है, वो कंप्यूटर से बनाया गया है

Updated On: Jan 10, 2017 08:04 PM IST

FP Staff

0
फर्जी वीडियो से बाबर मिसाइल के परीक्षण का पाकिस्तानी झूठ

क्या पाकिस्तान का बाबर-3 मिसाइल का सफल परीक्षण का वीडियो झूठा है. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि मिसाइल परीक्षण के एक दिन बाद ही पाकिस्तान के दावे को लेकर सवाल खड़ा हो गया है.

रक्षा मामलों के सूत्र पाकिस्तान आर्मी के बाबर-3 मिसाइल परीक्षण के वीडियो को फर्जी मान रहे हैं. उनके मुताबिक परीक्षण का जो वीडियो पाकिस्तान ने दुनिया के सामने पेश की है, वो कंप्यूटर से बनाया गया है.

जारी किए गए वीडियो में देखा जा सकता है कि मिसाइल पनडुब्बी से लॉन्च किए जाने के बाद पानी से निकलता है और अपने टारगेट को हिट करता है. वीडियो में दो मिसाइल दिखाई देती है. पहली मिसाइल जो पानी से निकलती है उसका रंग भूरा है. लेकिन कुछ देर बाद दिखाई दिए मिसाइल का रंग नारंगी है.

फर्जी है बाबर-3 मिसाइल परीक्षण

भारतीय नौसेना से जुड़े सूत्रों ने बताया कि 9 जनवरी को पाकिस्तान ने कोई मिसाइल टेस्ट नहीं किया था.

9 जनवरी को पाकिस्तान ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम क्रूज मिसाइल के पहले सफल परीक्षण का दावा किया था.

पाकिस्तान आर्मी ने 9 जनवरी को अपने बयान में कहा था कि हिंद महासागर में अज्ञात स्थल से बाबर-3 मिसाइल का परीक्षण किया गया. मिसाइल को पानी के नीचे गतिमान प्लेटफॉर्म से छोड़ा गया और उसने सटीकता से टारगेट को हिट किया.

पाकिस्तान ने 9 जनवरी को ही बयान जारी कर दावा किया था कि बाबर मिसाइल में शत्रु रडार और वायु रक्षा से बच निकलने जैसी क्षमता है. बाबर-3 एसएलसीएम जमीन पर हमला करने के दौर में अलग-अलग तरह के लोड को ले जाने में सक्षम है. साथ ही परमाणु हमले होने पर वो पलटवार करने की भी क्षमता देता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi