S M L

उत्तर कोरिया खत्म करेगा परमाणु परीक्षण स्थल, ट्रंप ने किया फैसले का स्वागत

उत्तर कोरिया ने कहा है कि विदेशी मीडिया के कर्मियों के सामने इन परमाणु परीक्षण सुरंगों को उड़ा दिया जाएगा

Updated On: May 13, 2018 02:18 PM IST

Bhasha

0
उत्तर कोरिया खत्म करेगा परमाणु परीक्षण स्थल, ट्रंप ने किया फैसले का स्वागत

अमेरिका के साथ शिखर वार्ता से पहले उत्तर कोरिया अपने परमाणु परीक्षण स्थलों को खत्म करेगा. उत्तर कोरिया ने कहा है कि विदेशी मीडिया के कर्मियों के सामने इन परमाणु परीक्षण सुरंगों को उड़ा दिया जाएगा.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक समारोह में पुंग्ये - री स्थित परीक्षण स्थल को नष्ट करने के उत्तर कोरिया के फैसले की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि यह एक बहुत ही अच्छा और अनुकूल फैसला है. अमेरिका उत्तर कोरिया को पूरी तरह से परमाणु मुक्त देखना चाहता है. इन सुरंगों को 23 से 25 मई के बीच समाप्त किया जाएगा.

मालूम हो दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के नेताओं की बातचीत के बाद उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन और ट्रंप के बीच सिंगापुर में 12 जून को एक शिखर बैठक होनी है. इससे पहले पिछले साल तक अमेरिका और उत्तर कोरिया एक-दूसरे को जंग की धमकियां देते थे.

अब तक 6 परमाणु परीक्षण कर चुका है उत्तर कोरिया

जानकारों ने बताया है कि उत्तर कोरिया ने अबतक अपने हथियारों को नष्ट करने के बारे में सार्वजनिक रूप से टिप्पणी नहीं की है. इन हथियारों में ऐसी मिसाइलें भी शामिल हैं जो अमेरिका तक पहुंचने में सक्षम हैं. पुंग्ये - री देश के उत्तरपूर्वी हिस्से में स्थित है, और बताया जा रहा है कि उत्तर कोरिया के सभी छह परमाणु परीक्षण यहीं हुए थे. इसमें सबसे अहम पिछले साल सितंबर में किया गया परीक्षण भी शामिल है जिसके बाद उत्तर कोरिया ने दावा किया था कि अब उसके पास भी हाइड्रोजन बम है. किम यह पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम पूरा हो चुका है और इस स्थल की और जरूरत नहीं है.

उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए के मुताबिक, उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि जो नए उपाय किए गए हैं उसके मुताबिक, परीक्षण स्थल को नष्ट कर दिया जाएगा और उस जगह को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा.

इस कार्यक्रम को कवर करने के लिए सिर्फ चीन, रूस, अमेरिका, ब्रिटेन और दक्षिण कोरिया के संवाददाताओं को इजाजत होगी, ताकि इसकी पारदर्शिता को दिखाया जा सके.उन्होंने विदेशी पत्रकारों की सीमित संख्या का कारण जगह की कमी बताई है, क्योंकि यह पहाड़ी इलाके में जमीन से नीचे है.

दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया की इस घोषणा का स्वागत करते हुए कहा कि यह उत्तर कोरिया के संकल्पों को पूरा करने की इच्छा को दर्शाता है. वह सिर्फ कह ही नहीं रहा है बल्कि कहे हुए को करके भी दिखा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi