S M L

अंतरिक्ष से ऐसा दिखा था वर्ल्ड ट्रे़ड सेंटर बिल्डिंग पर 9/11 अटैक, नासा ने शेयर की तस्वीर

नासा ने ट्विटर पर 11 सितंबर, 2001 को लगी गई हमले के बाद की एक तस्वीर शेयर की. ये तस्वीर उस दिन नासा के इंटरनेशन स्पेस स्टेशन से ली गई थी

Updated On: Sep 12, 2018 03:04 PM IST

FP Staff

0
अंतरिक्ष से ऐसा दिखा था वर्ल्ड ट्रे़ड सेंटर बिल्डिंग पर 9/11 अटैक, नासा ने शेयर की तस्वीर
Loading...

मंगलवार को अमेरिका ने 11 सितंबर, 2001 को हुए अपने इतिहास के सबसे भयावह आतंकी हमले की 17वीं बरसी मनाई. इस मौके पर लोगों ने इस हमले की त्रासदी और पीड़ितों को याद किया. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर नासा ने अलग तरह से अपनी श्रद्धांजलि दी.

नासा ने ट्विटर पर 11 सितंबर, 2001 को लगी गई हमले के बाद की एक तस्वीर शेयर की. ये तस्वीर उस दिन नासा के इंटरनेशन स्पेस स्टेशन से ली गई थी. आप इस लिंक पर क्लिक कर ऐसी कई तस्वीरें देख सकते हैं.

इस तस्वीर में न्यूयॉर्क की वर्ल्ड ट्रेड सेंटर बिल्डिंग से धुआं उठ रहा है.

फॉर्च्यून में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, इस हमले की खबर सुनकर इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के कमांडर ने लिखा था, 'इस शानदार बिंदू से अपने घर पर हुए घावों से धुआं उड़ता देखना बहुत दुखद है. धरती पर जीवन को बेहतर बनाने के लिए समर्पित स्पेसक्राफ्ट से धरती पर इस तरह के भयानक कृत्यों से जीवन को नष्ट होते देखना दुखद और झटका देने वाला है. अंतरिक्ष में आंसू सामान्य तरीके से नहीं बहते. '

11 सितंबर, 2001 को अमेरिका के न्यूयॉर्क में मशहूर वर्ल्ड ट्रेड सेंटर और पेंटागन बिल्डिंगों पर आतंकवादी ओसामा बिन लादेन के आतंकी संगठन अल-कायदा ने तीन हवाई जहाजों को हाईजैक करके गिरा दिया था. आतंकियों ने एक चौथा प्लेन भी हाईजैक किया था, जिसे जब यात्रियों और क्रू ने अपने कब्जे में लेने की कोशिश की तो आतंकियों ने पेन्सिल्वेनिया के एक खेत में गिरा दिया था. इस हमले में 3,000 के आस-पास लोगों की मौत हुई थी और हजारों की संख्या में लोग घायल हुए थे. मृत, लापता और मृत मान लिए गए लोगों की आधिकारिक संख्या 2,753 है. लेकिन दुखद बात ये है कि इनमें से महज 1,642 लोगों की आधिकारिक रूप से पहचान की जा सकी है.

यहां तक कि इस त्रासदी के आफ्टरमैथ में आज भी यानी 17 सालों बाद भी लोगों की जान जाती रहती है. हमले के बाद की जहरीली गैसों और धुएं ने हजारों को बीमार बनाया. ऐसा अनुमान है कि अमेरिका में हर ढाई दिन पर एक ऐसे व्यक्ति की मौत होती है, जिसे इस हमले से जुड़ी बीमारी है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi