S M L

चांद पर वीकेंड की मस्ती की तैयारी

लोग एक कंपनी की पहल से 10 साल के भीतर चांद की यात्रा कर सकेंगे

Updated On: Dec 08, 2016 08:31 AM IST

IANS

0
चांद पर वीकेंड की मस्ती की तैयारी

किताबों-कहावतों की दुनिया का चंदा मामा भले ही आंखों से दूर दिखाई देता हो लेकिन उसके करीब पहुंचने की इंसानी ख्वाहिश अब कोशिशों की नई उड़ान भर रही है. चांद पर जाने का सपना हकीकत में बदल सकता है. माना जा रहा है कि आम लोग एक कंपनी की पहल से 10 साल के भीतर चांद की यात्रा कर सकेंगे. ‘मून एक्सप्रेस' के सह-संस्थापक नवीन जैन ने बताया कि उनकी कंपनी पहली ऐसी गैर-सरकारी कंपनी है जिसे इस सप्ताह अमेरिकी सरकार ने चांद पर उतरने के लिए मंजूरी दे दी है.

अब कंपनी 2017 में चांद की सतह पर खनिज के खनन और अन्य गैसों के लिए सबसे अच्छी जगह ढूंढने के लिये एक सर्वेक्षण कराने की योजना बना रही है.

चांद की सैर

कंपनी का लक्ष्य है कि साल 2026 में लोगों की चांद की सैर कराई जाए. मानवता के इतिहास की इस सबसे ऐतिहासिक यात्रा पर दुनिया की नजर है.

इससे पहले मून एक्सप्रेस ने एक अनोखा ऑफर भी दिया था. उस ऑफर के तहत लोग अपने प्रियजनों के निधन के बाद उनकी अस्थियों को चांद पर भेज सकेंगे. एक किलो अस्थियां भेजने के लिए 30 लाख डॉलर यानी करीब 20 करोड़ रुपये चुकाने पड़ेंगे.

इससे पहले फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने ‘मून एक्सप्रेस’ को 2017 में चंद्रमा पर उपग्रह भेजने का लाइसेंस दिया है. यह मंजूरी पाने वाली ‘मून एक्सप्रेस’ पहली निजी कंपनी है. निजी कंपनी के तौर पर चांद मिशन के लिए लाइसेंस पाने के बाद जैन ने कहा था, 'मून लाइसेंस के लिए आकाश सीमित नहीं है। यह उसके लिए लांचपैड है. आने वाले समय में हम चांद से बहुमूल्य धातु और चट्टान लाएंगे.'

2010 में स्थापित इस कंपनी के सह संस्थापकों में जैन, बॉब रिच‌र्ड्स और अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के विशेषज्ञ बर्नी पेल हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi