S M L

वीके सिंह पहुंचे उत्तर कोरिया, 20 साल में किसी मंत्री का पहला दौरा

विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह उत्तर कोरिया के दौरे पर हैं, हालांकि विदेश मंत्रालय के तरफ से इस मामले पर कोई बयान नहीं आया है

Updated On: May 16, 2018 02:48 PM IST

FP Staff

0
वीके सिंह पहुंचे उत्तर कोरिया, 20 साल में किसी मंत्री का पहला दौरा

भारत के विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह उत्तर कोरिया के दौरे पर हैं. पिछले 20 सालों में उत्तर कोरिया जाने वाले वीके सिंह पहले मंत्री हैं. हालांकि विदेश मंत्रालय के तरफ से उनके इस दौरे पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है और मंत्रालय चुप्पी साधे हुए हैं.

ऐसा माना जा रहा है कि अमेरिका के साथ उत्तर कोरिया के सुधरते रिश्ते को देखते हुए वीके सिंह यात्रा पर गए हैं. बताया जा रहा है कि सिंह चीन होते हुए मंगलवार को प्योंगयांग पहुंचे. प्योंगयांग में वो उत्तर कोरिया के अपने समकक्ष से मुलाकात करेंगे. देश के तानाशाह किम जोंग उन से मुलाकात को लेकर अभी तक कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है.

किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच सिंगापुर में 12 जून को होने वाली बैठक से पहले सिंह के इस दौरे को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

उत्तर कोरिया ने अमेरिका को दी वार्ता रद्द करने की धमकी

दूसरी तरफ, उत्तर कोरिया ने अपने नेता किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच होने वाली बहुप्रतीक्षित शिखर वार्ता रद्द करने की धमकी देते हुए कहा है कि अगर अमेरिका उस पर परमाणु शस्त्रागार को बंद करने की अपनी एकतरफा मांग पर अड़ा रहता है तो उसे उसके साथ बातचीत में कोई दिलचस्पी नहीं है.

अमेरिका को चेतावनी देने और दक्षिण कोरिया के के साथ उसके संयुक्त सैन्य अभ्यास को अशिष्ट और दुष्ट उकसावा करार देते हुए उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के साथ बुधवार को होने वाली उच्च स्तरीय बैठक रद्द कर दिया है.

उत्तर कोरिया के प्रथम उपविदेश मंत्री किम के ग्वान ने एक बयान में कहा ‘अगर ट्रंप प्रशासन हमें घेरता है और परमाणु हथियारों को छोड़ने की एकतरफा मांग करता है तो हमें उसके साथ बातचीत में कोई दिलचस्पी नहीं होगी और हमें पुनर्विचार करना होगा कि हम डीपीआरके - अमेरिका शिखर वार्ता को स्वीकार करते हैं अथवा नहीं.’ उप विदेश मंत्री के इस बयान को केसीएनए समाचार एजेंसी ने अपनी रिपेार्ट में लिया है.

माना जा रहा है कि दोनों देशों के बीच होने वाली ऐतिहासिक शिखर वार्ता में उत्तर कोरिया के परमाणु शस्त्रागार का मुद्दा प्रमुख एजेंडा होगा लेकिन उत्तर कोरिया लंबे समय से कहता रहा है कि अमेरिका की ओर से हमले की सूरत में उसे अपनी रक्षा के लिए हथियारों की आवश्यकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi