विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

मार्क ज़करबर्ग और टिम कुक से मिले चीन के राष्ट्रपति, व्यापार नीति में बदलाव का दिया भरोसा

शी जिंनपिंग के इस कदम को क्या नॉर्थ कोरिया संकट से जोड़कर देखा जाना चाहिए

FP Staff Updated On: Oct 31, 2017 12:07 PM IST

0
मार्क ज़करबर्ग और टिम कुक से मिले चीन के राष्ट्रपति, व्यापार नीति में बदलाव का दिया भरोसा

चीन के राष्ट्रपति शी ज़िनपिंग ने फेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग और एपल के सीईओ टिम कुक के साथ मुलाकात की. इस मुलाकात की अहमियत इसलिए है कि चीन ने इसके बाद घोषणा की है, चीन अभूतपूर्व बदलाव करने वाला है.

शी जिनपिंग लगातार दूसरी बार 5 साल के लिए चुने गए हैं. ज़िनपिंग ने कहा कि चीन अपने यहां व्यापार करने की शर्तों को ढीला करेगा. चीन अमेरिका के साथ भी व्यापारिक रिश्ते सुधारने की बात कह रहा है. ज़िनपिंग डॉनल्ड ट्रंप से भी मिलने वाले हैं.

इस पूरी घोषणा में सबसे अहम बात यह है कि चीन ने अपने यहां फेसबुक का इस्तेमाल ब्लॉक कर रखा है. इसके साथ-साथ गूगल और दूसरी वेबसाइट्स पर भी तमाम तरह की पाबंदियां लगी हुई हैं. ऐसे में फेसबुक का मेड इन चाइना वर्जन कैसा होगा इस पर तमाम कयास लगाए जा सकते हैं.

चीन सरकार की तरफ से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है, 'चीन अमेरिका के साथ लंबे समय के लिए काम करने को तैयार है. ताकि दोनों देश एक दूसरे के साझा हितों का खयाल रख सकें. साथ ही साथ हम चाहते हैं कि इससे दोनों देश अपने विरोधों और असहमतियों को सुलझा पाएं. हम चीन-अमेरिका के अच्छे रिश्तों की आशा करते हैं.'

पिछले कुछ समय में दक्षिण एशिया की राजनीति में नाटकीय बदलाव आए हैं. चीन के इस बदलाव को इससे जोड़कर देखा जा सकता है. नॉर्थ कोरिया की बढ़ती धमकियों और भारत के जापान के साथ आने का कुछ असर भी इन मुलाकातों पर माना जा सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi