S M L

मालदीव राष्ट्रपति चुनाव: अब्दुल्ला यामीन ने चुनावी हार को कोर्ट में दी चुनौती

अब्दुल्ला यामीन की प्रोग्रेसिव पार्टी ऑफ मादीव्ज के वकीलों के अनुसार, उनका आरोप है कि स्वतंत्र चुनाव आयोग ने मतदान में धांधली की है

Updated On: Oct 10, 2018 05:55 PM IST

FP Staff

0
मालदीव राष्ट्रपति चुनाव: अब्दुल्ला यामीन ने चुनावी हार को कोर्ट में दी चुनौती

मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन की पार्टी ने याचिका दायर कर पिछले महीने हुए चुनाव में उन्हें मिली बड़ी हार को चुनौती दी है. यामीन की प्रोग्रेसिव पार्टी ऑफ मादीव्ज (पीपीएम) के वकीलों ने बुधवार को मीडिया को बताया कि उनका आरोप है कि स्वतंत्र चुनाव आयोग ने मतदान में धांधली की है.

इस बीच, मौजूदा राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन पर पद से हटने का अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ता जा रहा है.

मालदीव में 23 सितंबर को हुए राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी पार्टियों के साझा उम्मीदवार इब्राहिम मोहम्मद सोलिह को भारी जीत मिली है. चुनाव आयोग के मुताबिक सोलिह को मतगणना में 58.4 प्रतिशत वोट मिले हैं.

चुनाव से पहले सोलिह एक जाना-पहचाना चेहरा नहीं थे लेकिन विपक्षी पार्टियों से समर्थन पाकर उन्होंने चुनाव में भारी जीत दर्ज की.

वर्ष 2013 में जीत के बाद अब्दुल्ला यामीन ने अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ कार्रवाई की थी. उन्होंने अपने सौतेले भाई और मालदीव में पहली बार लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित राष्ट्रपति और सुप्रीम कोर्ट के जजों को जेल में डाल दिया था.

संवैधानिक रूप से यामीन 17 नवंबर तक पद पर बने रह सकते हैं, उसी दिन उन्हें सोलिह को सत्ता सौंपनी है. बशर्ते कि अदालत की ओर से अंतिम समय में इसमें कोई दखल नहीं हो.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi