S M L

गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथियों की लिस्ट, जानिए उन 10 चेहरों को

भारत में पहली बार गणतंत्र दिवस समारोह में एक साथ 10 देशों के प्रतिनिधि मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किए गए हैं

Updated On: Jan 22, 2018 04:54 PM IST

FP Staff

0
गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथियों की लिस्ट, जानिए उन 10 चेहरों को

भारत के लिए गणतंत्र दिवस एक अहम राष्ट्रीय पर्व है, और देश जल्द ही राजधानी दिल्ली में आयोजित खास परेड के इंतजार में हैं. दरअसल इस बार गणतंत्र दिवस परेड पर पहली बार एक साथ 10 देशों के प्रतिनिधि मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत करेंगे.

इन 10 देशों में ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड और वियतनाम शामिल हैं. इस रिपोर्ट में हम आपको इन आसियान देशों के अतिथियों से अवगत कराएंगे.

थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रायुत चान-ओ-चा

थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रायुत चान-ओ-चा

थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रायुत चान-ओ-चा गणतंत्र दिवस परेड पर भारत के मुख्य अतिथियों में से एक हैं. वह पूर्व प्रधानमंत्री यिंगलक शिनवात्रा के बाद दूसरे थाई प्रधानमंत्री हैं जो गणतंत्र दिवस परेड में शिरकत करेंगे. वह 2012 में भारत की मुख्य अतिथि थी.

आंग सान सू की

आंग सान सू की

आंग सान सू की पहली बार मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत करेंगी. हालांकि उन्होंने भारत से ही शिक्षा ग्रहण की है. वह दिल्ली के लेडी श्री राम कॉलेज से स्नातक हैं.

हसनअल बोल्किया

हसनअल बोल्किया

ब्रुनेई के सुल्तान हसनअल बोल्किया पहली बार साल 2012 में आसियान देशों के सम्मेलन में भारत आए थे. जिसके बाद पहली बार ही वह भारत के मुख्य अतिथि बन भारत आएंगे.

हुन सेन

हुन सेन

कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन 1963 में भारत आए  किंग नोरोडोम के बाद दूसरे कंबोडियाई नेता हैं.

जोको विडोडो

जोको विडोडो

जोको विडोडो इंडोनेशिया के तीसरे राष्ट्रपति हैं जो गणतंत्र दिवस परेड में भारत के मुख्य अतिथि होंगे. विडोडो से पहले साल 1950 में राष्ट्रपति सुकर्णो और साल 2011 में राष्ट्रपति सुसीलो बामबांग युधोयोनो भी गणतंत्र दिवस परेड पर भारत के मुख्य अतिथि के तौर पर आ चुके हैं.

ली सियन लूंग

ली सियन लूंग

प्रधानमंत्री ली सियन लूंग सिंगापुर के दूसरे प्रधानमंत्री हैं जो गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि होंगे. प्रधानमंत्री ली से पहले साल 1954 में पूर्व प्रधानमंत्री गोह चोक टोंग भी समारोह में आ चुके हैं.

नजीब रजाक

नजीब रजाक

मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक भी 10 मुख्य अतिथियों की सूची में हैं. प्रधानमंत्री रजाक की यह दूसरी भारत यात्रा होगी.

न्गुयेन शुयान फुक

न्गुयेन शुयान फुक

प्रधानमंत्री न्गुयेन शुयान फुक वियतनाम से दूसरे नेता हैं जो गणतंत्र दिवस समारोह में भारत आएंगे. उन से पहले साल 1989 में जनरल सेक्रेटरी न्गुयेन लिन्ह भी भारत आ चुके हैं.

थॉन्गलौन सिसोलिथ

थॉन्गलौन सिसोलिथ

लाओस के प्रधानमंत्री थॉन्गलौन सिसोलिथ का नाम भी 10 मुख्य अतिथियों की सूची में है. लाओस से वह पहले प्रतिनिधि होंगे जो भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में शिरकत करेंगे.

रॉड्रिगो दुतेर्ते

रॉड्रिगो दुतेर्ते

राष्ट्रपति रॉड्रिगो दुतेर्ते फिलीपींस के पहले नेता होंगे जो गणतंत्र दिवस समारोह में शिरकत करेंगे.

भारत में पहली बार गणतंत्र दिवस समारोह में एक साथ 10 देशों के प्रतिनिधि मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किए गए हैं. अब तक गणतंत्र दिवस पर किसी एक देश के राष्ट्राध्यक्ष या प्रतिनिधि को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया जाता था और सिर्फ तीन मौकों पर दो-दो देशों के राष्ट्राध्यक्षों या प्रतिनिधियों को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया गया है. ऐसे में 10 देशों के प्रतिनिधियों का गणतंत्र दिवस पर एक साथ मुख्य अतिथि होना एक ऐतिहासिक अवसर होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi