S M L

इंडोनेशिया: टेकऑफ के 13 मिनट बाद विमान क्रैश, 188 लोगों के मरने की आशंका

इंडोनेशिया की सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी ने सोमवार को कहा कि जकार्ता से सुमात्रा जा रही लॉयन एयर पैसेंजर फ्लाइट समुद्र में क्रैश हो गई है

Updated On: Oct 29, 2018 11:30 AM IST

FP Staff

0
इंडोनेशिया: टेकऑफ के 13 मिनट बाद विमान क्रैश, 188 लोगों के मरने की आशंका
Loading...

इंडोनेशिया में एक प्लेन क्रैश में 188 लोगों के मारे जाने की आशंका है. प्लेन के टेक ऑफ करते ही हादसा हुआ है और प्लेन क्रैश होकर टुकड़ों में बिखर गया. इंडोनेशिया की सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी ने सोमवार को कहा कि जकार्ता से पंगकल पिनॉन्ग जा रही लॉयन एयर पैसेंजर फ्लाइट समुद्र में क्रैश हो गई है. एजेंसी के प्रवक्ता युसुफ लतीफ ने कहा कि फ्लाइट क्रैश हो गई है, इस बात की पुष्टि की जा चुकी है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, विमान ने टेकऑफ के 13 मिनट बाद ही संपर्क खो दिया था. ये एक बोइंग 737 MAX 8 विमान था.

विमान का मलबा समुद्र में जाकार्ता के पास मिला है. जिस वक्त हादसा हुआ उस समय विमान में 188 लोग सवार थे. जिनमें से 178 वयस्क, 1 बच्चा, 2 नवजात, 2 पायलट और 5 फ्लाइट अटेंडेंट शामिल हैं. इंडोनेशिया ट्रांस्पोर्ट मिनिस्ट्री के अधिकारी ने कहा कि लॉयन एयर फ्लाइट में क्रू समेत 188 लोग सवार थे.

इंडोनेशिया की आपदा एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पूर्वो नुग्रोहो ने हादसे का शिकार हुए विमान की कुछ तस्वीरें ट्विटर पर डालीं, जिनमें बुरी तरह टूट चुका एक स्मार्टफोन, किताबें, बैग, विमान के कुछ हिस्से दिख रहे हैं. दुर्घटना की जगह तक पहुंचे खोजी एवं बचाव पोतों ने यह सामान इकट्ठा किए हैं. प्रवक्ता ने बताया कि विमान में 181 यात्री सवार थे जिनमें तीन बच्चे भी थे. इसके अलावा, चालक दल के सात सदस्य भी विमान में सवार थे. इंडोनेशियाई टीवी चैनल विमान से ईंधन के निकल कर समुद्र में फैलने और विमान के मलबे की तस्वीरें दिखा रहे हैं.

लॉयन एयर ग्रुप चीफ एग्जिक्यूटिव एडवर्ड सिरैट ने कहा कि हम इस समय कोई बयान नहीं दे सकते हैं. हम पूरी जानकारी और डेटा निकालने के प्रयास में लगे हैं.

राष्ट्रीय तलाश और बचाव एजेंसी (एनएसआरए) ने कहा कि पश्चिम जावा के पास समुद्र में यह विमान गिरा. यह जगह 30-35 मीटर (98-115 फुट) गहरी है.

एनएसआरए के प्रमुख मुहम्मद स्याउगी ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि गोताखोर विमान के पूरे मलबे का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं.

बोइंग 737-800 विमान सुबह 6 बजकर 20 मिनट पांगकल पिनांग के लिए जकार्ता से रवाना हुआ था. विमान की स्थिति पर नजर रखने वाली वेबसाइट 'फ्लाइटअवेयर' पर 'फ्लाइट 610' से संबंधित सूचना इसके उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद नजर आनी बंद हो गई.

'इंडोनेशियन टीवी' ने दर्जनों लोगों को पांगकल पिनांग हवाई अड्डे के बाहर लोगों को बेचैनी में अपने परिजन से जुड़ी सूचना का इंतजार करते और अधिकारियों को प्लास्टिक की कुर्सियां लाते दिखाया.

इंडोनेशिया में सबसे बड़ा विमान हादसा

दिसंबर 2014 में एयरएशिया के एक विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद यह इंडोनेशिया में सबसे बड़ा विमान हादसा है. एयरएशिया का विमान दुर्घटनाग्रस्त होने पर उसमें सवार सभी 162 लोग मारे गए थे.

जकार्ता तलाश और बचाव दफ्तर ने अपनी रिपोर्ट में एक नौका के चालक दल के सदस्यों का हवाला दिया है. दरअसल, इस नौका के चालक दल के सदस्यों ने ही लायन एयर. के विमान को आसमान से गिरते देखने पर इस बारे में सूचित किया था।

एनएसआरए की ओर से वायुसेना को भेजे गए एक टेलीग्राम में तलाश के काम में उसकी सहायता मांगी गई है.

'लायन एयर' इंडोनेशिया के सबसे बड़े एयरलाइनों में से एक है, जिसके दर्जनों विमान देश-विदेश की जगहों के लिए उड़ान भरते हैं.

साल 2013 में 'लायन एयर' का एक बोइंग 737-800 विमान बाली में उतरते वक्त रनवे से फिसलकर समुद्र में चला गया था. हालांकि, इस घटना में विमान में सवार 108 लोगों में से किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ था.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi