S M L

दुनियाभर में तेजी से बढ़ रहा है प्रकाश प्रदूषण: शोध

जर्नल साइंस एडवांसेज में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार धरती पर कृत्रिम रूप से प्रकाशित सतह विकिरण बढ़ा देती है

Updated On: Nov 24, 2017 05:36 PM IST

Bhasha

0
दुनियाभर में तेजी से बढ़ रहा है प्रकाश प्रदूषण: शोध

विभिन्न कार्यक्रमों पर होने वाली कृत्रिम चकाचौंध प्रकाश व्यवस्था भारत समेत पूरी दुनिया में मात्रा और चमक की लिहाज से प्रकाश प्रदूषण को बेतहाशा बढ़ा रही है. एक अध्ययन में यह बात सामने आई है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि वैसे तो नगर निगम, उपक्रम और परिवार ऊर्जा बचाने के लिए एलईडी प्रकाश व्यवस्था को अपना रहे हैं लेकिन अगर पड़ोसी नई और तेज चमक वाले लैंप लगाते हैं तो यह बचत धरी की धरी रह सकती है.

वैज्ञानिकों को डर है कि यह 'प्रतिकूल प्रभाव’ शहरों में व्यक्तिगत नई (एलईडी) प्रकाश व्यवस्था की बचत को आंशिक या पूर्ण रूप से निष्प्रभावी कर सकता है और आसमान को काफी तेज रोशनी से भर सकता है.

नाईट लाइट से बढ़ता है रेडिएशन

जेएफजेड जर्मन रिसर्च सेंटर फोर जियोसाइंस के क्रिस्टोफर कैबा की अगुवाई में हुए इस अध्ययन में इस संकल्पना के पक्ष में सबूत भी दिए गए हैं.

जर्नल साइंस एडवांसेज में प्रकाशित इस अध्ययन के अनुसार धरती पर कृत्रिम रूप से प्रकाशित सतह विकिरण बढ़ा देती है और पिछले चार साल में उसमें दो फीसद सालाना की दर से वृद्धि हुई है. वैज्ञानिकों ने रात्रि प्रकाश के लिए विशेष रूप से तैयार पहले समेकित उपग्रह रेडियोमीटर के आंकड़ों का उपयोग किया. इसमें भारत का भी 2012-16 का आंकड़ा शामिल है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi