विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

ये हैं वो 11 बड़े धमाके, जिसने 2 सालों में काबुल से छीनी कई सौ जिंदगियां

पिछले कुछ सालों में अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में कई बड़े धमाके हो चुके हैं.

FP Staff Updated On: May 31, 2017 01:33 PM IST

0
ये हैं वो 11 बड़े धमाके, जिसने 2 सालों में काबुल से छीनी कई सौ जिंदगियां

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार को भारतीय दूतावास के पास हुए कार धमाके में करीब 80 लोगों की मौत हो गई, जबकि 350 लोग घायल हुए हैं. धमाका इतना तेज था कि इससे भारतीय दूतावास की खिड़कियां और दरवाजें टूट गए.

आपको बता दें कि पिछले कुछ सालों में काबुल में कई बड़े धमाके हो चुके हैं और भारतीय दूतावास के करीब हुआ ये हमला इस कड़ी का ताजा उदाहरण है. डालिए एक नजर पिछले दो सालों में काबुल में हुए दिल दहला देने वाले उन हमलों पर जिसने छीनी मासूमों की जिंदगियां...

8 मार्च, 2017: बंदूकधारियों के एक ग्रुप ने काबुल के सरदार दाऊद खान मिलिट्री हॉस्पिटल पर हमला किया था. इस हमले में 49 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 63 घायल हो गए थे. आईएसआईएस ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी, लेकिन अधिकारियों का मानना था कि इसके पीछे हक्कानी नेटवर्क का हाथ है.

10 जनवरी, 2017: अफगान संसद के पास हुए दो आत्मघाती हमलों में 30 लोगों की मौत हो गई थी और दर्जनों लोग घायल हो गए थे. वहीं सरकार ने इस हमले के पीछे तालिबान का हाथ बताया था.

21 नवंबर, 2016: शिया मस्जिद में हुए आत्मघाती हमले में 30 लोगों की मौत हो गई थी. इस हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली थी.

5 सितंबर, 2016: अफगान रक्षा मंत्रालय के पास हुए दो आत्मघाती हमलों में 41 लोगों की मौत हो गई थी. जबकि करीब 103 लोग घायल हो गए थे. इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली थी.

23 जुलाई, 2016: काबुल शहर में हुए इस भीषण हमले में 90 लोग मारे गए थे. आतंकियों ने हजारा ग्रुप के लोगों को उस वक्त निशाना बनाया जब वो आंदोलन कर रहे थे. तालिबान ने इस हमले से अपने किसी भी तरह से तार जुड़े होने की बात से इनकार कर दिया था.

3 मई, 2016: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक शक्तिशाली आत्मघाती कार हमले में नाटो के सैन्य काफिले को निशाना बनाया गया, जिसमें 8 नागरिकों की मौत हो गई. इस हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली थी.

19 अप्रैल, 2016: ट्रेनिंग सेशन के दौरान नेशनल डायरेक्ट्रेट ऑफ सिक्योरिटी (NDS) के अफसरों को ट्रेनिंग सेशन के दौरान आतंकियों ने निशाना बनाया. इस हमले में कुछ अफसरों समेत करीब 70 नागरिकों की मौत हो गई थी. भारत, अमेरकिा समेत कई देशों ने इस हमले की कड़ी निंदा की थी.

1 फरवरी, 2016: काबुल पुलिस कॉम्पलेक्स के नजदीक हुए 20 पुलिस अफसरों की मौत हो गई थी.

20 जनवरी, 2016: तालिबान के एक आत्मघाती हमलावर ने एक मिनीबस को निशाना बनाया. इस हमले में सात लोगों की मौत हो गई थी.

11 दिसंबर, 2015: स्पेन के दूतावास के पास आतंकियों ने एक गेस्ट हाउस को निशाना बनाया था. इस हमले में स्पेन के दो और अफगान के 4 नागरिकों की मौत हो गई थी. इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi