S M L

ट्रंप को झटका, जज ने रोका शरणार्थियों को बाहर निकालने का आदेश

हवाई अड्डों पर विदेशों से अमेरिका लौट रहे लोगों के लिए एंट्री बंद.

FP Staff Updated On: Jan 29, 2017 10:45 AM IST

0
ट्रंप को झटका, जज ने रोका शरणार्थियों को बाहर निकालने का आदेश

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को अपने कार्यकाल के पहले ही हफ्ते में अदालत से झटका लगा है. एक फेडरल जज ने शरणार्थियों के मुद्दे पर उनके शासकीय आदेश के एक हिस्से के पालन पर रोक लगा दी है.

न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक, फेडरल जज ऐन एम डॉनेली ने आदेश दिया कि अमेरिका के हवाई अड्डों पर फंसे शरणार्थियों व दूसरे देश के नागरिकों को वापस नहीं भेजा जाना चाहिए.

जज डॉनेली, जिन्हें पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने जज बनाया था, ने अमेरिकी सिविल लिबर्टीज यूनियन की याचिका पर फैसला सुनाया. उन्होंने कहा कि लोगों को उनके देश वापस भेजने से उन्हें 'अपूरणीय क्षति' हो सकती है.

हालांकि जज डॉनेली ने इन लोगों को देश में एंट्री की इजाजत देने या ट्रंप के शासकीय आदेश की संवैधानिकता पर कोई विस्तृत फैसला नहीं दिया. उन्हें किसी को हिरासत में लिए जाने के खिलाफ आदेश तो नहीं दिया लेकिन ऐसा होने पर साफ किया कि कोर्ट के दरवाजे खुले हैं.

यह भी पढ़ें: ट्रंप ने रोकी 7 मुस्लिम देशों के नागरिकों, शरणार्थियों की एंट्री

वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, न्यूयॉर्क में इस आदेश के कुछ ही देर बाद वर्जिनिया में अमेरिकी डिस्ट्रिक जज लियोमी ब्रिनकेमा ने राज्य के डलेस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हिरासत में लिए गए कुछ ग्रीन कार्ड होल्डरों लोगों को हटाए जाने के खिलाफ आदेश जारी किया.

बताया जा रहा था कि ग्रीन कार्ड होने के बावजूद करीब 50 लोगों को अमेरिका में वापस एंट्री नहीं करने दी जा रही थी. आदेश के बाद कुछ लोगों को आने दिया गया और उनके परिवार से मिलने की इजाजत मिली. इस दौरान बड़ी संख्या में अमेरिकी लोग एयरपोर्ट पर मुस्लिम व अन्य दूसरे देशों के नागरिकों के लिए समर्थन जताने पहुंचे.

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को ट्रंप के शरणार्थियों की एंट्री रोकने के आदेश के बाद कई हवाई अड्डों पर विदेशों से अमेरिका लौट रहे लोगों के लिए एंट्री बंद हो गई. ऐसे कई लोग एयरपोर्ट पर फंसे हुए हैं. खबरें हैं कि अमेरिका में पढ़ रहे कई छात्रों को वापस आने से रोक दिया गया है.

ट्रंप ने शुक्रवार को एक शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर किए जिसके तहत अमेरिका की सीमाएं दुनिया भर के शरणार्थियों के लिए बंद कर दी गईं. साथ ही 7 मुस्लिम देशों के लोगों की अमेरिका में एंट्री अस्थायी तौर पर बंद कर दी गई है.

यह भी पढ़ें: ट्रंप ने कहा, न्यूयॉर्क टाइम्स और वाशिंगटन पोस्ट ‘बेईमान’

हस्ताक्षर करने के बाद ट्रंप ने कहा कि वह इस्लामी आतंकियों को अमेरिका से बाहर रखने के लिए सघन जांच के नए नियम स्थापित कर रहे हैं. ट्रंप के इस आदेश के जरिए अमेरिकी शरणार्थी प्रवेश कार्यक्रम को 120 दिन के लिए निलंबित कर दिया गया है. यह आदेश इराक, सीरिया, ईरान, सूडान, लीबिया, सोमालिया और यमन के सभी लोगों को 30 दिन तक अमेरिका में दाखिल होने से रोकता है.

इस आदेश के मुताबिक अब अमेरिका में प्रवेश के लिए मुस्लिम देशों के नागरिकों को एक धार्मिक टेस्ट देना होगा. उन्होंने यह भी आदेश दिया कि ईसाइयों और अन्य अल्पसंख्यकों को प्रवेश के लिए मुस्लिमों के ऊपर प्राथमिकता दी जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi